तेनु काला चश्मा जचदा ऐ... गज़ब का गाना है न. कहीं भी सुनाई दे अपने आप ही कंधे हिलने लगते हैं और हम झूमने लगते हैं. विदेशी Female Dancers से घिरीं कटरीना भी बहुत ही ख़ूबसूरत लग रही हैं गाने में. 'बार बार देखो' फ़िल्म को आपने बार बार देखा हो या न हो, इस गाने को कई बार देखा होगा.

'काला चश्मा' को एक नंबर डांस नंबर बनाने का श्रेय सिर्फ़ कटरीना के ठुमकों को ही नहीं है, उन लोगों का भी है जिन्हें अक़सर नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है. हम बात कर रहे हैं गाने या म्यूज़िक वीडियोज़ के 'साइड डांसर्स' या 'बैक डांसर्स' की.

Source- Mens XP

म्यूज़िक वीडियोज़, आइटम नंबर्स, डांस नंबर्स की रीढ़ होते हैं बैकअप डांसर्स. लेकिन ज्यादातर बैकअप डांसर्स ग़ुमनामी में ही अपना जीवन बिताते हैं (शाहिद कपूर इस मामले में एक अपवाद हैं). अगर बैक डांसर कोई श्वेत व्यक्ति हो, तो उनकी मुश्किलें और ज़्यादा बढ़ जाती हैं. पराया देश, पराये लोग पर काम के लिए गोरे डांसर्स मायानगरी मुंबई में रहते हैं.

Mens XP ने एक विदेशी बैकअप डांसर, जैक के जीवन के पहलू को उजागर किया है. इस अंग्रेज़ी वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में इंग्लैंड के बाशिंदे जैक ने बताया,

बॉलीवुड में 7 साल संघर्ष करने के बाद भी, मैं महीने का ख़र्च उठाने के लिए पे चेक पर ही निर्भर हूं.

भारत में आने के बारे में जैक ने बताया,

मैं एक बैकपैकिंग ट्रिप पर भारत आया था, टूरिस्ट वीज़ा पर. 2 महीने तक देशभर में घूमने के बाद लास्ट स्टॉप था मुंबई. कॉलेज के दौरान कुछ मॉडलिंग जॉब्स की थी, जिससे घूमने लायक पैसे जमा हो गये थे.
Source- Mens XP

मायानगरी मुंबई के अपने अनुभव पर जैक ने Mens XP को बताया,

ट्रिप के आखरी हफ़्ते में हिन्दी फ़िल्म इंडस्ट्री को क़रीब से देखने का मौक़ा मिला. बॉलीवुड पैकेज टूर के अंतर्गत मैंने 'मन्नत' और 'जलसा' देखा. फ़िल्म सिटी के टूर के दौरान यशराज स्टूडियोज़ में मुझे एक फ़िल्म की शूटिंग देखने का मौक़ा मिला. क़िस्मत देखिये, फ़िल्म थी फ़राह ख़ान की 'ओम शांति ओम' और वो भी 'दर्द-ए-डिस्को' गाने की शूटिंग.

जैक तब तक SRK के बारे मे ज़्यादा कुछ नहीं जानते थे, पर उन्हें इतना पता था कि SRK को बॉलीवुड का शहंशाह कहा जाता था. जैक को शाहरुख के आस-पास के 20 Female Backup Dancers को देख कर अजीब लगा, क्योंकि सभी श्वेत डांसर्स थे. घंटेभर शूट के बाद डायरेक्टर ने ब्रेक लिया और जैक की मुलाक़ात उसके स्कूल सीनियार *Robyn से हुई. जैक ने Mens XP को बताया,

उस वक़्त हमें लगता था कि Robyn मशहूर अभिनेत्री बनेगी और मुझे ये बात नहीं पता थी कि वो एक बैकअप डांसर है.
Source- Mens XP

बातचीत के दौरान जैसे ही Robyn ने जैक को ये बताया कि ये घाटे के सौदा नहीं है और कुछ घंटों के लिए 50 हज़ार तक मिलते हैं, तब जैक के दिमाग़ में भी बॉलीवुड में क़िस्मत आज़माने का ख़्याल आया.

20 मिनट की बातचीत ने जैक की दशा और दिशा बदल दी. बाकी की ट्रिप पूरी कर जैक हमेशा के लिए मुंबई आ गया. इस जल्दबाज़ी के निर्णय पर जैक ने कहा,

पुरानी बात याद करके लगता है कि मैंने इतना बड़ा निर्णय लेने में कितना कम वक़्त लगाया था. मैं कम उम्र का, ठीक-ठाक डांस करने वाला नौजवान था और मुझे नहीं पता था कि ज़िन्दगी क्या होने वाली है.

पहले कुछ साल जैक को ढेर सारे काम मिले. कई हिट गानें, 'चिट्टियां कलाईयां', 'बैंग बैंग' और कई अन्य हिट गानों में उन्हें काम मिला. काम के साथ-साथ अथाह पैसे भी मिले, पर शायद ये तूफ़ान से पहले की शांति थी.

Source- Pinterest

बीते कुछ सालों में बॉलीवुड और श्वेत डांसर्स का नाता जहां एक तरफ़ बना रहा, वहीं दूसरी तरफ़ अगर किसी को नुकसान हुआ है तो वो हैं Male White Side Dancers. ज़्यादातर बॉलीवुड नंबर्स हीराईनों पर ही फ़िल्माये जा रहे हैं, यानि ज़्यादा Female Side Dancers. धीरे-धीरे जैक को भी कम काम मिलने लगा.

जैक ने बताया,

फ़िल्ममेकर्स को आइटम नंबर्स फ़ायदा का सौदा लगते हैं. 'काला चश्मा' गाने को ही देख लीजिये, उसमें 30 Female Dancers के मुक़ाबले सिर्फ़ आधा दर्जन Male Dancers थे. यही नहीं एक ही काम के लिए Female Dancers को ज़्यादा और Male Dancers को कम पैसे दिए जाते हैं.

जैक के अनुसार डांस अब सिर्फ़ डांस नहीं रह गया. डांसर्स को डांस के साथ ही स्टंट्स भी करने होते हैं. स्टंट्स करने में हमेशा दुर्घटना का ख़तरा बना रहता है. एक बार एक शूट के दौरान जैक और एक अन्य डांसर को स्टंट करने के कारण चोटें आईं. 2 महीने तक जैक काम नहीं कर पाये. ज़ख़्मी होने से ज़्यादा उन्हें दुख इस बात का था कि वो 2 महीने काम नहीं कर पाए.

Source- Actofrage

जैक अभी दो प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे हैं और इसके लिए उन्हें 14 घंटे काम करना पड़ता है. इसके बाद भी उनकी आय किसी फ़्रेशर जितनी ही है. जैक ने ये स्वीकार किया कि उन्हें डांसिंग से पहले जैसा लगाव नहीं है. फ़िल्मों में काम की कमी के कारण जैक विज्ञापन फ़िल्मों में काम करते हैं.

जब Mens XP ने पूछा कि जैक सब कुछ छोड़ कर घर क्यों नहीं चले जाते, तो इस पर जैक ने ये जवाब दिया,

मेरे पास महीने का किराया देने के भी पैसे नहीं है. फ़्लाइट की टिकट तो दूर की बात है.

सच में स्पॉटलाइट तो अभिनेताओं पर होती है, साइड डांसर्स तो अंधेरे में ही रह जाते हैं.

नोट: पात्रों के नाम बदल दिए गए हैं.