गांव, कुछ लोगों के लिए पिछड़ी जगह, तो कुछ लोगों के लिए सुकून भरे दो पल बिताने का आसान सा तरीका. अलग-अलग है सोच, पर इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता कि हमारे देश की पहचान हमारे गांवों से ही है.

जो गांवों को पिछड़ा समझते हैं, उन्हें इन गांवों में जाकर ज़रूर देखना चाहिए. विकास और आधुनिकता की असल परिभाषा हैं ये गांव.

1. Pothanikkad, Kerala

Source: TOI

केरल के इस गांव के लोग हैं 100 प्रतिशत साक्षर. इस गांव का हर व्यक्ति शिक्षित है.

2. Mawlynnong, Meghalaya

Source: Lonely Planet

मेघालय का ये गांव, एशिया का सबसे साफ़-सुथरा गांव है. आपको यहां गुटखा या पान मसाले के निशान, प्लास्टिक बैग, कचरा कुछ भी नहीं मिलेगा. कहिए कोई शहर है ऐसा?

3. Hiware Bazar, Maharashtra

Source: Blogspot

देश का सबसे अमीर गांव है ये. यहां लगभग 60 लखपति रहते हैं. 1995 में यहां के 168 परिवार गरीबी रेखा से नीचे थे और अब यहां के सिर्फ़ 3 परिवार ही गरीबी रेखा से नीचे हैं. बारिश के पानी को संचित करके इस गांव ने गरीबी को हरा दिया.

4. Punsari, Gujarat

Source: Wordpress

ये है आज का हाई-टेक गांव. गुजरात के इस गांव में Wi-Fi, CCTV से लेकर AC क्लासरूम्स भी हैं. सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस है ये गांव.

5. Dharnai, Bihar

Source: Scoop Whoop

बिहार को पिछड़ा कहने वाले, इस राज्य के बारे में कुछ नहीं जानते होंगे. सौर ऊर्जा से बिहार के ये गांव पूरी तरह रौशन है. किसी ज़माने में यहां के लोगों के पास सिर्फ़ दीयों का ही सहारा था.

6. Chappar, Haryana

Source: Achchi Khabre

हरियाणा में लड़कियों की हालत किसी से छिपी नहीं है. पर हरियाणा के इस गांव की महिला सरपंच, नीलम ने गांववालों का नज़रिया बदल दिया है. इस गांव में अब स्त्रियां घूंघट में नहीं छिपती, बल्कि बेटी पैदा होने पर गांव में मिठाईयां बांटी जाती हैं.

7. Kokrebellur, Karnataka

Source: Hi Bengaluru

इस गांव के लोगों को परिंदों से बहुत प्यार है. इस गांव में ज़ख्मी परिंदों की देखभाल के लिए एक अलग स्थान बनाया गया है.

8. Khonoma, Nagaland

Source: Maps of India

नागालैंड की राजधानी कोहिमा के निकट बसा ये गांव देश का सबसे हरा-भरा गांव है.यहां का स्वच्छ वातावरण और साफ़-सफ़ाई कई शहरों के लिए एक मिसाल है.

9. Bekkinakeri, Karnataka

Source: Graham Crouch

खुले में शौच करने वालों की हमारे देश में आज भी कोई कमी नहीं है और गांवों की ये एक बहुत बड़ी समस्या है. कर्नाटक के इस गांव ने स्वच्छता अभियान शुरू होने से पहले ही इस गांव ने इस समस्या का हल निकाल लिया था. गांववाले खुले में शौच करने वालों को सुबह-सुबह जाकर नमस्कार या 'गुड मॉर्निंग' कहने लगे. शर्म के मारे शौच करने वालों ने खुले में शौच करना छोड़ दिया.

10. Kila Raipur, Punjab

Source: Metro

पंजाब के इस गांव में Rural Olympics का आयोजन किया जाता है. ये गांव Kila Raipur Sports Festival के लिए मशहूर है. इस गांव के लोग इन खेलों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं.

तो अब कहिए, गांव किस मामले में शहरों से पीछे हैं?