अगर आप अपनी उम्र से कम और ख़ूबसूरत दिखना चाहती हैं, तो हम आपके लिए लाये हैं क्विक ब्यूटी सीक्रेट. एक रिसर्च में शोधकर्ताओं ने पाया है कि सिर्फ़ अपनी आंखों, होंठ और भौहों को डार्क कलर की मदद से उभारने भर से ही कोई भी महिला अधिक सुन्दर और आकर्षक दिख सकती है.

Source: hindustantimes

इस अध्ययन के बारे में साइकोलॉजी के Journal Frontiers में प्रकाशित हो चुका है. इस स्टडी में बताया गया है कि हर संस्कृति और कल्चर की महिलाओं के फ़ीचर्स को अगर देखा जाए तो आईब्रो, होंठ और आंखें ही फ़ीचर्स हैं, जो मुख्य होते हैं और जिस महिला के ये तीन फ़ीचर्स जितने सुन्दर होते हैं, वो उतनी ही ख़ूबसूरत दिखती है.

फ़्रांस में स्थित University Of Grenoble के शोधकर्ता, Aurelie Porcheron ने बताया कि, 'Facial Contrast का मतलब है कि चहरे पर आंखें, आईब्रो और होंठ कितने आकर्षक हैं. यानी कि उनका रंग हल्का है या डार्क और उनकी बनावट कैसी है.' हालांकि, विभिन्न जातियों के लोगों की स्किन का रंग अलग-अलग हो सकता है, ऐसे में उम्र के साथ स्किन में परिवर्तन हो सकते हैं, लेकिन स्किन का रंग तो वैसा ही रहता है.

Porcheron और उनके सहयोगियों ने अनुमान लगाया कि व्यक्ति के फ़ेशियल कॉन्ट्रास्ट और उम्र बढ़ने के बीच का संबंध अलग-अलग जातियों में एक से हो सकते हैं. अपनी इस परिकल्पना का परीक्षण करने के लिए शोधकर्ताओं ने अलग-अलग कल्चर की महिलाओं की फ़ोटोज़ का अध्ययन किया, इस अध्ययन में उन्होंने चीनी एशियाई महिलाओं, लैटिन अमेरिकी महिलाओं, दक्षिण अफ्रीकी महिलाओं और फ्रेंच कोकेशियान महिलाओं की फ़ोटोज़ को शामिल किया.

उनकी रिसर्च में जेंडर को लेकर कोई मतभेद न हो इसलिए उन्होंने अपने अध्ययन में ख़ासतौर पर केवल महिलाओं को ही शामिल किया. रिसर्च में शामिल की गई महिलायें 20 से 80 साल की उम्र की थीं. शोधकर्ताओं ने उनके चेहरे की तस्वीरों का विश्लेषण करने के लिए कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर का इस्तेमाल किया, जिसमें उन्होंने कई पैरामीटर्स पर चेहरों की जांच की. रिसर्च टीम ने पाया कि से उनमें बहुत मामूली से अंतर थे, कई पहलूओं पर परीक्षण करने के बाद उनको चार ग्रुप की महिलाओं के चेहरों में उम्र के साथ-साथ आंखों, होंठ और आईब्रो के पास ही बदलाव हुआ है.

इससे पता चलता है कि दुनिया के किसी भी कोने की महिला के चेहरे और फ़ीचर्स में उम्र बढ़ने के साथ-साथ परिवर्तन होता है. इसके बाद शोधकर्ताओं ने ये पता लगाने की कोशिश की कि किस उम्र में चेहरे में क्या बदलाव आते हैं. इसके लिए उन्होंने उन्हीं चार ग्रुप्स में से अलग-अलग उम्र की महिलाओं की फ़ोटोज़ का इस्तेमाल किया. और इस बार उन्होंने सॉफ़्टवेयर की मदद से हर चेहरे की फ़ोटोज़ के दो वर्ज़न बनाये, जिसमें एक हाई कॉन्ट्रास्ट और दूसरा लो-कॉन्ट्रास्ट था.

Source: pinimg

इसके बाद शोधकर्ताओं ने दो बिलकुल अलग-अलग संस्कृति फ़्रांस और चीन से महिलाओं और पुरुषों को बतौर वॉलेंटियर आमंत्रित किया, ताकि वो उन दो वर्ज़न्स को देखकर उनमें से कम उम्र वाले चेहरे का चुनाव करें. इन वॉलेंटियर्स में से 80 प्रतिशत ने प्रतिभागी या चेहरे के सांस्कृतिक मूल की परवाह किए बिना High Facial Contrast वाली फ़ोटोज़ का चुनाव किया.

Porcheron ने बताया कि, 'विभिन्न संस्कृति के लोग उम्र का अनुमान लगाने के लिए Facial Contrast का इस्तेमाल करते हैं, जबकि वो सच में इसके बारे में कुछ भी जानते नहीं हैं.' इस रिसर्च का निष्कर्ष ये निकलता है और महिलाओं सुझाव देता है कि 'वो नियमित रूप से बढ़ती उम्र के कारण चेहरे पर आ रहे बदलावों की महसूस करने के साथ-साथ छुपा भी सकती हैं. इसके लिए वो अपनी आंखों, होंठ और आईब्रोज़ को मेकअप से उभार कर आकर्षक दिख सकती हैं.'

Source: hindustantimes