वैसे तो बॉलीवुड फ़िल्मों में हीरो-हीरोइनों का बोल-बाला रहता ही है, उनके किरदार को लोग सर आंखों पर लेते हैं. लेकिन वहां जब कोई एक ख़ास तीसरा किरदार आ जाता है तो लोगों की नज़रें उससे हटती ही नहीं हैं. ये तीसरा किरदार कोई और नहीं, बल्कि तीसरा लिंग यानि किन्नर ही है. कई दिग्गज़ एक्टर्स ने बॉलीवुड फ़िल्मों में इनके किरदार को जिया और अच्छे से निभाने की कोशिश भी की.

1. महेश मांजरेकर

फिल्म 'रज्जो' में महेश मांजरेकर ने किन्नर की भूमिका निभाई थी. शुरुआत में तो कई लोगों ने विरोध किया लेकिन फ़िल्म रिलीज़ होने के बाद सभी लोगों ने इनके काम की सराहना की.

2. सदाशिव अमरापुरकर

300 से ज़्यादा फ़िल्मों में काम करने वाले सदाशिव अमरापुकर ने फिल्म 'सड़क' में किन्नर का रोल किया. इस फ़िल्म को न सिर्फ़ सराहा गया, बल्कि इस किरदार ने तो सदाशिव को अमर बना दिया.

3. आशुतोष राणा

फ़िल्म 'शबनम मौसी' में आशुतोष राणा ने शबनम मौसी की ज़िंदगी को जिया. इस फ़िल्म में दिखाया गया कि कैसे एक किन्नर को राजनीति में आने के लिए विषम परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है.

4. रवि किशन

बॉलीवुड के भोजपुरिया सलमान रवि किशन ने फिल्म रज्जो में एक किन्नर की भूमिका निभाई थी.

5. अली जकारिया

अनोखे किरदार के लिए मशहूर अली ज़कारिया ने फिल्म 'दरमियां' में किन्नर का रोल किया था. इस फ़िल्म को समाज के सभी वर्ग के लोगों ने काफ़ी सराहा भी था.

6. राखी सांवत

ब़ॉलीवुड की ड्रामा क्वीन राखी सावंत ने फिल्म 'मस्ती' में एक छोटा सा किन्नर का रोल किया था.

7. निर्मल पांडे

1996 में दायरा फ़िल्म आई थी, इसमें निर्मल पांडे किन्नर की भूमिका में थे. इनके किरदार को काफ़ी सराहा गया. इसी फ़िल्म के लिए निर्मल पांडे को उनके रोल के लिए पेरिस में बेस्ट एक्टर से नवाज़ा भी गया.

8. परेश रावल

बॉलीवुड के प्रतिभाशाली एक्टर परेश रावल ने फ़िल्म तमन्ना में एक किन्नर की भूमिका निभाई थी. अपने इस किरदार पर परेश रावल ने कहा कि- मेरी कोशिश समाज में इन लोगों (किन्नरों) को एक स्थान देना है.

9. बॉबी डार्लिंग

फ़िल्म 'क्या कूल हैं हम' में बॉबी डार्लिंग ने एक समलैंगिक की भूमिका निभाई थी. इस फ़िल्म में उनके रोल को काफ़ी सराहा भी गया था.

10. सीमा बिस्वास और विनीत

'क्वीन्स- डांस ऑफ़ डेस्टिनी' पूरी फिल्म ही किन्नरों की जिंदगी पर आधारित थी. सीमा बिस्वास और विनीत इसमें किन्नर बने थे.

किन्नर हमारे समाज का एक महत्वपूर्ण अंग हैं. वो भी देश के विकास में अपनी भूमिका निभा सकते हैं. लेकिन अफ़सोस की बात है कि हम अभी तक उनको हेय दृष्टि से देखते हैं. इन एक्टर्स ने फ़िल्मों में किन्नर के रोल करके उनकी ज़िंदगी पर प्रकाश डालने की कोशिश की है. इस आर्टिकल के माध्यम से हमारी कोशिश है कि आप भी किन्नरों को एक सम्मान की नज़र से देखें. इस आर्टिकल को पढ़ कर अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें.
Story & Image Source Sociopool