शॉपिंग कई लोगों का शौक होता है. सेल हो, तो शॉपिंग का मज़ा भी दोगुना हो जाता है. डिस्काउंट पर कपड़े खरीद कर शायद आपको लगता हो कि आपने अपने पैसे बचा लिए हैं, लेकिन सच कुछ और ही होता है. आज हम आपको कपड़ों के स्टोर्स के बारे में ऐसी 10 बातें बताने जा रहे हैं, जो आपसे छुपायी जाती हैं.

1. सेल सेक्शन में कपड़े बेतरतीबी से क्यों पड़े होते हैं

Source: Themeasuredmom

क्या कभी आपने गौर किया है कि यूं तो स्टोर में कपड़े अच्छे से तह कर के रखे जाते हैं, लेकिन सेल के सेक्शन में कपड़े बेतरतीबी से ढेर में पड़े होते हैं? दरअसल, ऐसा जानबूझ कर किया जाता है. इससे कस्टमर्स को लगता है कि यहां उन्हें भारी डिस्काउंट मिल सकता है.

2. हर ब्रांड का साइज़ एक नहीं होता

Source: Alicdn

अलग-अलग ब्रांड्स अपने अलग साइज़ बनाते हैं. यही कारण है कि किसी को एक ब्रांड का M साइज़ आता है, तो दूसरे ब्रांड का S.

3. डिज़ाइनर कपड़ों की क्वालिटी का नहीं होता भरोसा

Source: Asiawebdirect

डिज़ाइनर कपड़ों का मकसद भी आपसे एक ही चीज़ के लिए ज़्यादा पैसे ख़र्च करवाना होता है. इनकी क्वालिटी में कोई अंतर नहीं होता.

4. नए कपड़े धोए बिना न पहनें

Source: Blogspot

जिन कपड़ों पर 100% नेचुरल लिखा होता है, वो भी आपके लिए हानिकारक हो सकते हैं. कपड़े बनाने में कई केमिकल इस्तेमाल होते हैं. नए कपड़ों को पहनने से पहले उन्हें धोएं ज़रूर. इससे उनमें पाए जाने वाले केमिकल हट जायेंगे और इन्फ़ेक्शन का ख़तरा भी. आपसे पहले भी कई लोग कपड़ों को पहन कर देख चुके होते हैं.

5. नेचुरल फ़ैब्रिक और सिन्थेटिक फ़ैब्रिक के दाम में कोई फ़र्क नहीं होता

Source: Pinimg

इनके दामों में अंतर दिखाया जाता है, ताकि लोग नेचुरल कपड़े के लिए ज़्यादा पैसे दें.

6. सेल में फ़ायदा आपका नहीं, उनका है

Source: Blogspot

सेल का मकसद आपसे वो चीज़ें ख़रीदवाना होता है, जो आप यूं नहीं खरीदते. कई लोग डिस्काउंट देख कर अनावश्यक चीज़ें भी ख़रीद लेते हैं. कई बार तो सेल से पहले दाम बढ़ा दिए जाते हैं, ताकि सेल में आपको सामान सस्ता लगे.

7. छूट हर आइटम पर नहीं होती

Source: Blogspot

स्टोर की खिड़की पर भले ही 70% छूट लिखा हो, लेकिन ये छूट बस चंद आइटम्स पर ही होती है, बाकि पर 10% का ही डिस्काउंट होता है.

8. डिज़ाइनर कपड़ों की क्वालिटी स्टोर में कुछ होती है और बुटीक में कुछ और

Source: Pinimg

डिज़ाइनर आइटम आपको स्टोर में सस्ते मिलते हैं, क्योंकि उनकी क्वालिटी भी सस्ती ही होती है. ये बेकार मटेरियल से बनाये जाते हैं और असली डिज़ाइन की कॉपी भर होते हैं.

9. बेकार क्वालिटी बेची जाती है, ताकि आप बार-बार खरीदें कपड़े

Source: Mallsmarket

कपड़े बेकार क्वालिटी के होने के पीछे भी एक कारण है. मैन्युफ़ैक्चरर चाहते हैं कि आप बार-बार कपड़े ख़रीदें.

10. हर हफ़्ते बदलते हैं ट्रेंड्स

Source: Insyncshopfittings

आप लेटेस्ट फैशन का जो कपड़ा आज ख़रीद रहे हैं, वो अगले हफ़्ते ओल्ड फ़ैशन हो जायेगा. अब मैन्युफ़ैक्चरर का फ़ोकस जल्दी बदलने वाले Microtrends पर रहता है.

Source: Brightsideme