भले ही आपके दिमाग में Air India की सर्विसेज़ की एक नकारात्मक छवि बनी हो, लेकिन इसकी ये सर्विस जान कर आप इसे सैल्यूट करेंगे. नफ़ा-नुकसान और सरहदों को किनारे कर के एयर इंडिया कल यानि रविवार 2 अप्रैल को बांग्लादेश के तीन मरीज़ों और उनके एक-एक परिवार जनों को मुफ़्त में बांग्लादेश से मुम्बई लायी. ये तीनों मरीज़ Duchenne Muscular Dystrophy नाम की दुर्लभ बीमारी से जूझ रहे हैं.

Source- Navbharattimes

एयर इंडिया ने इनकी मुफ़्त वापसी का भी वादा किया है. एयर लाइन ने अपनी विज्ञप्ति में लिखा कि 'तीन मरीज़ और उनके साथ में तीन परिवार जनों ने एयर इंडिया फ़्लाइट AI 773 कोलकाता से मुम्बई से ली है और वो इलाज के बाद एयर इंडिया की फ़्लाइट से ही लौटेंगे, बिल्कुल मुफ़्त में. एयर इंडिया इंसानियत के लिए अपना आर्थिक लाभ, सरहदों और राजनीति से अलग हट कर कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध है. इन मरीज़ों को पूरी सहूलियतें प्रदान की गई हैं. फ़्लाइट पर खाना, प्रति मरीज़ के लिए एटेंडेंट और व्हील चेयर मुहैया कराई गई है'. ये सभी बांग्लादेश से कोलकाता सड़क के रास्ते आए थे.

Source- SW

कैसे मिली मदद?

एयर ​इंडिया ने बताया कि-

Abdus, Rahinul और Shorab जो क्रमशः 24, 14 और 8 साल के हैं, जन्म से ही इस दुर्लभी बीमारी से जूझ रहे हैं. ये मामला सामने तब आया जब इन तीनों के परिवार जनों ने बांग्लादेश सरकार से इलाज का खर्च न कर पाने के कारण इनकी इच्छा मृत्यु की मांग की थी. इनकी उम्मीद तब दोबारा जगी जब मुम्बई की एक संस्था ने इनकी मदद करने का ज़िम्मा लिया.

Meditourz नाम की ये संस्था इस तरह की बीमारी के इलाज के लिए प्रसिद्ध है. ये संस्था, मुम्बई के NeuroGen- Brain and Spine Institute के साथ मिल कर इन तीनों के मुफ़्त इलाज के लिए आगे आई. मशहूर न्यूरोसर्जन डॉक्टर आलोक शर्मा इनके मुफ़्त इलाज के लिए तैयार हो गए.

इसके बाद एयर इंडिया से इनके आने जाने की मदद मांगी गई, जिसके बाद सीएमडी अश्वनी लोहानी इस काम के लिए तुरंत तैयार हो गए और मरीज़ों की पूरी तरह मदद की.

Article Source- TOI