नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के हिसाब से हर साल करीब 1.3 लाख लोग आत्महत्या करते हैं. इनमें से करीब 60 हज़ार लोगों की मौत पंखे से फ़ांसी लगा कर होती है. 2004 में मॉडल नफ़ीसा जोसेफ़ ने भी ऐसे ही आत्महत्या की थी, जिसके बाद Crompton Greaves कंपनी में सहायक महाप्रबंधक रह चुके शरद अशानी ने इस समस्या पर काम करने का विचार किया.

12 साल पहले रिटायर हो चुके शरद सालों से एक ऐसे पंखे पर काम कर रहे हैं, जिस पर लटकने ​से किसी की मौत नहीं हो सकती. शरद ने इस पंखे के लिए ऐसी एंटी सुसाइड रॉड बनाई है, जिस पर अगर कोई लटकता है, तो वो तुरंत पंखे से अलग हो जाती है और व्यक्ति आसानी से ज़मीन पर आ जाता है, बिना पंखे के ब्लेड या मोटर से चोट खाए.

इस रॉड में अनलॉकिंग सिस्टम है, जिस पर औसत से ज़्यादा वज़न पड़ते ही वो खुल जाता है. वो चाहते हैं कि इस प्रोडक्ट को ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंचाया जा सके, जिससे अधिक लोगों की जान बचाई जा सके. वो कहते हैं कि अभी तक वो 500 से ज़्यादा बार इसके प्रशिक्षण कर चुके हैं. इस रॉड में इस्तेमाल होने वाली स्प्रिंग उन्होंने घर पर ही बनाई है. ये काम मैकेनिकल इंजीनियर का होता है, लेकिन उन्होंने सालों इसकी रिसर्च कर के इसे खुद बनाया है.

शरद ने अपने आविष्कार का पेटंट करा लिया है और चाहते हैं कि सभी सीलिंग फ़ैन्स में ये फ़ीचर जोड़ा जाए. दो हफ़्ते पहले शरद ने अपनी कार्यशाला शुरु की है, जिसमें ये रॉड बनाने का कार्य चालू हो चुका है. अभी तक 100 रॉड बनाई जा चुकी हैं और शरद के हिसाब से उनकी फ़र्म एक महीने में 10 हज़ार रॉड बना सकती है. ये 250 रुपये की रॉड आसानी से पुराने या नय पंखे में लगाई जा सकती है.

Article Source- TOI