मेट्रो, बस या लोकर ट्रेन... रोज़ाना ऑफ़िस, कॉलेज, स्कूल जाने के लिए लाखों लोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग करते हैं. सफ़र में कोई हमसफ़र न हो, तो सफ़र और लंबा लगने लगता है. पब्लिक ट्रांसपोर्ट में हमसफ़र तो होते हैं पर हर किसी से बातें नहीं होती. अगर आपने कभी दिल्ली मेट्रो में सफ़र किया है, तो आप बहुत अच्छे से समझ सकते हैं कि हम किस बारे में बात कर रहे हैं.

कुछ लोग तो किताबों, फ़िल्मों या स्मार्टफोन में लगे रहते हैं, पर कुछ लोगों के सहारा ये भी नहीं होता.

Instagrammer समर खान ने सफ़र को खूबसूरत बनाने का एक नायाब तरीका निकाला है. समर ने MetroDoodle नाम से एक बहुत मज़ेदार प्रोजेक्ट शुरू किया है.

समर अपने स्मार्टफोन से ही सफ़र के दौरान तस्वीरें खींचते हैं और उनमें Random Creatures जोड़ देते हैं.

समर ने Buzz Feed से बात करते हुए बताया,

'मुझे रोज़ाना सफ़र में 3-4 घंटे लग जाते हैं. मैंने खाली समय काटने के लिए Doodling शुरू की. एक Doodle बनाने में मुझे दो मेट्रो राइड्स लगते हैं, अगर सीट मिल जाए तो. हालांकि ये Doodle पर भी निर्भर करता है.'

समर कोई Professional; Artist नहीं बल्कि एक Software Developer हैं. खाली समय में वे Illustrate करते हैं. कुछ ही महीनों में Instagram पर समर के 4500 से ज़्यादा Followers हो गए हैं.

दिल्ली मेट्रो अंडर-वाटर भी चल सकती है!

जब करनी हो Karate प्रैक्टिस, मेट्रो Escalator का इस्तेमाल करें

दिल्ली मेट्रो में भी तम पिशाच घूमते हैं.

दिल्ली मेट्रो में भी जानलेवा पौधे हो सकते हैं.

ये क्या, मेट्रो प्लेटफॉर्म पर Alien!!!

शहर ख़तरे में है और ये लोग इत्मीनान से बैठे हैं!

बेटा फोन में घुसा रह तू, और जूतों की लेस भूल जा!

इस दुनिया में कब, कहां, किससे इश्क हो जाए, कुछ कहा नहीं जा सकता

ज़िन्दगी में और क्या चाहिए गर मिल जाए एक Panda जैसा साथी...

राजीव चौक पर मेट्रो लेना, जंग जीतने के बराबर है

आंटी ने मेरी जान ले ली!

ये हड्डी मेट्रो प्लेटफॉर्म पर क्या कर रहा है!

Source: Buzz Feed