सोशल मीडिया पर कोई ख़बर उतनी वायरल नहीं होती, जितनी धर्म से संबंधित नकली ख़बरें फ़ैलती हैं. लोग अब हर बात धर्म से जोड़ रहे हैं और उस पर हिंसक प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं. पिछले हफ़्ते 16 साल का जुनैद भी ऐसी ही भीड़ का शिकार हुआ और अपनी जान खो बैठा. ये बहस जो ट्रेन की सीट को लेकर शुरू हुई थी, उसे धर्म के नाम पर बढ़ाया गया और जुनैद को मार दिया गया. भीड़ को सिर्फ़ इतना पता था कि जुनैद और उसके परिवार वाले गो मांस लेकर जा रहे हैं. जुनैद ईद की खरीदारी कर के घर लौट रहा था.

Source- The News Minute

जुनैद के साथ हुई ये घटना पहली नहीं थी, इससे पहले दादरी केस भी हो चुका है. इस घटना की घुटन पूरे देश में थी, कि हम कैसे देश में रह रहे हैं जहां भीड़ की आड़ में कुछ भी संभव है. कुछ दिन पहले गुड़गांव की फ़िल्मकार ने इसके लिए आवाज़ उठाने की पहल की, जिससे आज पूरा देश ही नहीं, विदेश से भी लोग जुड़े हैं. फ़िल्मकार सबा दीवान ने फ़ेसबुक पर 'Not In My Name' नाम से अभियान शुरु किया, जिसके ज़रिए वो अपना क्रोध और मौजूदा स्थिति पर शोक़ दर्ज करना चाहती थी.

इस अभियान से अब देश-विदेश से हज़ारों लोग जुड़ चुके हैं और आज शाम अलग-अलग जगहों पर लोग एकत्रित होकर Mob Lynching के खिलाफ़ प्रदर्शन कर रहे हैं.

आज 28 जून 2017 को इस प्रदर्शन की जगह और समय हैं-

इलाहाबाद, शाम 5 बजे सुभाष चौराहा सिविल लाइन

बेंगलुरु, शाम 6 से 8, Bangalore Town Hall, 112 JC Road

चंडीगढ़, शाम 6 बजे से, सेक्टर 17

दिल्ली, शाम 6 से 8 जंतर मंतर, राजीव चौक

हैदराबाद, शाम 4 से 7 Tank Bund

कोच्चि, शाम 6 बजे से High Court Junction

कोलकाता, शाम 5 से 7 Madhusudhan Mancha, Dhakuria के पास Dakhinapan Premises

लखनऊ, शाम 4:30 से 6:30 गांधी पार्क, जीपीओ हज़रतगंज

मुम्बई, शाम 5 से 7 कार्टर रोड, Promenade

पटना, शाम 6 बजे से कार्गिल चौक, गांधी मैदान

Trivendrum, शाम 5:30 से 8 Secretariat

लंदन, दोपहर 2 से 3:30 SOAS, University of London, Thornhaugh Street, WC1H 0XG

बाकी दिन और जगहों की सूची

Boston (USA), 29 जून, शाम 7 से 8 बजे, Harvard Sq T-stop, Cambridge, Massachusetts

पुणे शाम 6:30 से 8:30, 29 जून, पुणे स्टेशन, डॉक्टर बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा के पास

चेन्नई, सुबह 11 से 1 बजे, 1 जुलाई, Valluvar Kottam, Nungambakkam

कराची (पाकिस्तान), शाम 4 से 6 बजे, 1 जुलाई, कराची प्रेस क्लब के बाहर

कोशिश करिएगा धर्म को घर छोड़ कर जाएं.

यहां पर हिन्दू-मुसलमान नहीं, एक इंसान, एक जान देखो! ग़ज़बPost Mob Lynching का समर्थन किसी भी स्तर पर नहीं करता है. #HumansAgainstMob

Source- Facebook and Hindustan Times