सरकार प्रचार के माध्यम से पूरी कोशिश करती है कि लोग ट्रैफ़िक के नियमों को समझें और उनका पालन करें. ट्रैफ़िक नियम उनकी सुरक्षा के लिए बनाये गए हैं. ट्रैफ़िक नियमों को कड़ाई से लागू करने के लिए दंड का भी प्रावधान है. इसके बावजूद लोग ट्रैफ़िक को बेधड़क तोड़ते हैं. नियमों को सख़्ती से लागू कराने के लिए ट्रैफ़िक पुलिस को कुछ शक्तियां दी गईं है. वो आपका चालान काट सकते हैं या आपको चप्पल मार सकते हैं. चप्पल? हां, आपने सही पढ़ा है. ऐसा क़ानूनी रूप से जायज़ तो नहीं है, लेकिन कभी-कभी वो ऐसा कर देते हैं. इस घटना को ही देख लीजिए.

बैंगलोर में एक ट्रैफ़िक पुलिस ने बिना हेलमेट दो बाइक सवारों को गुस्से में चप्पल फेंक कर मार दी. इस घटना की रिकॉर्डिंग व्लॉगर रिषभ चटर्जी के डैश-कैम में हो गई. वीडियो में साफ़-साफ़ दिखता है कि ट्रैफ़िक पुलिस ने दो लड़कों को बिना हेलमेट के आते देख लिया है और वो चप्पल उतार कर उनके स्वागत के लिए तैयार हैं, पास आते ही उसने चप्पल उनके मूंह पर दे मारी. वीडियो काफ़ी लंबी है आप इसे सीधे 6:50 के आगे से देख सकते हैं.

उस ट्रैफ़िक पुलिस का ऐसा करना ठीक तो नहीं है. लेकिन इसके बाद से वो दो बाइक चालक हेलमेट पहनना कभी नहीं भूलेंगे.

Source: indiatimes