'सिलवट' के ट्रेलर को फ़ैज अहमद फ़ैज की एक ग़ज़ल पर बड़ी ख़ूबसूरती से सजाया गया है... 'मुझसे पहली सी मुहब्बत मेरे महबूब न मांग', नूर(मेहर मिस्त्री) की आवाज़ में जब इस ट्रेलर की शुरुआत होती है, तब समझ आ जाता है कि आगे प्यार की बात होगी लेकिन पहले प्यार की नहीं. और जब आखिरी शेर पर ये ट्रेलर ख़त्म होता है , राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा', मतलब ज़िंदगी का हर सुख मिलन में ही नहीं है. बाकि कहानी का अंदाज़ा आप अपनी समझ से लगाएं.

Source: religion film

नूर की शादी के एक सप्ताह के भीतर उसका शौहर कमाई के लिए विदेश चला जाता है. इंतज़ार की घड़ी रुकने का नाम नहीं लेती. इस बीच उसकी मुलाक़ात अनवर(कार्तिक आर्यन) से होती है, अनवर पेशे से दर्ज़ी है. दोनों के दिल में एक-दूसरे के लिए प्यार का एहसास घर कर जाता है लेकिन कभी जज़्बात होंठों तक नहीं आ पाते.

इस शॉर्ट फ़िल्म को तनुजा चंद्रा ने निर्देशित किया है. तनुजा की पहचान 'दिल तो पागल है' की सह-लेखिका और दुश्मन, क़रीब-क़रीब सिंगल जैसी फ़िल्मों की डायरेक्टर के तौर पर है.

ट्रेलर यहां देखें-

सिलवट 7 सितंबर को ZEE5 पर रिलीज़ होगा.