ताइवान का 21 वर्षीय Liang Sheng-yueh नेपाल की एक निर्जन घाटी में अपनी गर्लफ्रेंड के साथ खो गया था. दुर्भाग्यवश, बचाव दल द्वारा ढूंढें जाने से तीन दिन पहले ही उसकी गर्लफ्रेंड की मृत्यु हो गयी. लेकिन ये लड़का 47 दिनों बाद भी सुरक्षित बचा लिया गया है.

19 वर्षीय Liu Chen-chun ऐसा होने से तीन दिन पहले ही ज़िन्दगी से जंग हार गयी. नेपाल के Dhading इलाके से इस लड़के को खोजा गया है. इतने दिनों तक खाने के बिना ज़िन्दा रह पाना अपने-आप में एक चमत्कार है.

काठमांडू के एक अस्पताल में लड़के का इलाज चल रहा है. उसे जहाज़ के ज़रिये एक घाटी से यहां लाया गया है. 2,600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस घाटी में जब बचाव दल ने लड़के को ढूंढा, तो वो सो रहा था.

बचाव दल के सदस्य Madhav Basnyat ने बताया कि जब वो उठा, तो उसे ज़िन्दा देख सभी को बहुत अचंभा हुआ.
लड़के ने बताया कि वो किसी गांव के मिल जाने की आस में एक नदी का पीछा कर रहे थे, लेकिन वो झरने पर आकर रुक गयी और वो वापस ऊपर नहीं जा पाए. उसने बताया कि पहाड़ पर बेहद ठण्ड थी और वो सो नहीं पाते थे.

डॉक्टर्स ने बताया कि इस दौरान लड़के का 30 किलो वज़न कम हो गया है और उसके एक पैर में कीड़े भी लग थे. जब उसे अस्पताल लाया गया था, तो उसके पैर में भुगने लगे हुए थे और वो बेहद भूखा था.

Source: Ngm

कपल ने कई दिनों तक उनके पास मौजूद आलू और नूडल्स से काम चलाया. खाना ख़त्म होने के कई दिन बाद तक उन्हें केवल पानी पी कर जीना पड़ा. लड़के के पिता ने उसे खोजने के लिए एक हैलीकॉप्टर किराये पर लिया था.

नेपाल में हर साल करीब 150,000 पर्वतारोही अन्नापूर्णा और एवरेस्ट पर चढ़ाई करने आते हैं. ये पर्वतारोहियों की पसंदीदा जगह है.