दिन के 250 रुपये कमाने वाले एक मज़दूर को यही नहीं पता था कि वो पांच कंपनियों का मालिक है और उसके बैंक अकाउंट से करोड़ों की लेन देन हो रही है.

कोलकाता के बिरजू रजक को इंकम टैक्स विभाग से बुलावा भेजा गया और पूरे पांच घंटे तक पूछताछ चली, आरोप था कि बिरजू ने 5.47 करोड़ का लेन-देन किया है. वो पांच निजी कंपनियों का डायरेक्टर है, जिसके ऊपर ग़ैरक़ानूनी रूप से कमाई करने के आरोप हैं.

गहन जांच के बाद पता चला कि बिरजू की रोजा़ना कमाई 250 रुपये ही है और उसकी जमा पूंजी केवल 8449.19 रुपये है.

Source: Dna India

बिरजू ने अधिकारियों को बताया कि उसकी मां हरिमोनी रजक हावड़ा में एक आनंद मोदी के घर काम करती है, आनंद मोदी ने उसकी मां से बिरजू का आधार कार्ड और अन्य पहचान पत्र मंगवाए और मुफ़्त में उसका पैन कार्ड भी बनवा दिया.

मोदी ने बिरजू के नाम से पांच कंपनियां खोल दी- Nightshine Vinimay, Trieye Distributors, Gainwell Promoters और Eveningstar Marcon. इसके अलावा कुछ बैंक अकाउंट भी खोले गए उसके नाम से.

Source: Storypick

बिरजू को जब इसकी भनक लगी तो उसने मोदी से इस बार में बात की. आनंद मोदी ने बिर्जु को ये आशवासन दिया कि उसकी पहचान आयकर विभाग में है, उसे कुछ नहीं होगा.

रजक ने मीडिया को बताया कि आयकर विभाग के अधिकारी उससे शालीनता से पेश आए और उन्होंने सबूत जुटाने के लिए उसके फ़ोन को टैप किया, जिसमें मोदी और उसकी बातचीत हुई है.