#Metoo Movement...

जिधर देखो, जिस क्षेत्र में देखो महिलाएं अपने साथ हुए Harassment की घटनाएं बयान कर रही हैं. तनुश्री दत्ता ने कुछ दिनों पहले नाना पाटेकर पर Horn Ok Pleassss के सेट पर ग़लत तरीके से छुने का इल्ज़ाम लगाया था.

इसके बाद कई अभिनेत्रियां, जर्नलिस्ट, कमेडियन सामने आई हैं और अपनी आप बीती सुनाई है.

आलोक नाथ से लेकर एम.जे.अकबर तक सब पर महिलाओं ने Sexual Assault करने का आरोप लगाया है.

इन सब के बीच कुछ पुरुषों को लग रहा है कि उनके साथ ग़लत हो रहा है, उन्हें बेवजह कुसूरवार माना जा रहा है.

ऐसे पुरुषों को सटीक जवाब दिया है Julius Ghost ने. Julius ने कई ट्वीट्स के ज़रिए #NotAllMen सोच वाले पुरुषों को समझाने की कोशिश की है.

1. फ़र्ज़ करिए आपके प्राइवेट पार्ट पर कोई ज़ोर की लात मारे, जान बूझकर. आप दर्द के मारे ज़मीन पर गिर जाते हैं, ऐसा लगता है कि आप नहीं बचेंगे. अब आपको बार-बार लात पड़े.

2. सोचिए ऐसा आपके साथ 12 साल की उम्र में हुआ,

सोचिए कि एक 38 साल की महिला ने आपके साथ ऐसा किया.

सोचिए वो महिला आपकी मम्मी की दोस्त और बिज़नेस पार्टनर थी.

3. आपने अपने मां-बाप को बताया और उन्होंने आपका विश्वास नहीं किया.

सोचिए फिर इस बात का उन्होंने कभी ज़िक्र नहीं किया.

आपने उस घटना के बारे में चुप रहना सीख लिया,

आपने डरना सीख लिया

4. सोचिए फिर एक दिन आपके पिता ने ये बताया कि महिलाओं की आदत ही होती है पुरुषों को लात मारने की, आपको एक लड़के के तौर पर सतर्क रहना चाहिए था.

सोचिए आपने अपनी पूरी ज़िन्दगी इस प्लैन के साथ बिताना शुरू किया कि कैसे लात खाने से बचा जा सके.

5. सोचिए आपको ये एहसास हुआ कि औरतें, उम्रदराज़ औरतें सिर्फ़ लड़कों का प्राइवेट ढूंढती हैं, लात मारने के लिए. सड़क पर महिलाएं आपका पीछा करती हैं. तुम्हारा सामान अच्छा है, अपने प्राइवेट पार्ट्स ज़रा और दिखाओ, ऐसा कहती हैं.

6. सोचिए आप ऐसे कपड़े पहनने लगते हो जिसमें आपके प्राइवेट पार्ट अच्छे से ढके रहें. मैगज़ीन, पोस्टर हर जगह पुरुषों के प्राइवेट पार्ट दिखाए जाते.

7. सोचिए आपके ज़्यादातर दोस्त प्राइवेट पार्ट में लात खाने की घटनाएं सुनाते.

सोचिए ऐसी घटनाएं उन्होंने कभी किसी से साझा नहीं की थी

सोचिए स्कूल की सारी बड़ी छात्राएं आपके साथ हुई इस घटना का मज़ाक उड़ाती.

एक बार उस सामूहिक हंसी के बारे में सोचिए.

8. सोचिए आप मंदिर गए हैं और वहां आपको बताया जाए कि महिलाओं को इसी लिए बनाया गया है क्योंकि उन्हें आपका शरीर चाहिए, इसीलिए आप सभी को अपने प्राइवेट पार्ट की रक्षा करनी होगी.

9. सोचिए आपको एक गर्लफ़्रेंड मिलती है, और आप दोनों एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं.

एक रात आप दोनों क़रीब आते हैं और वो आपके प्राइवेट पार्ट पर लात मारती है और आपको अपना Past याद आ जाता है.

सोचिए आपकी गर्लफ़्रेंड ऐसे Behave करती है मानो आप चाहते हो कि आपको वो लात मारे. आप Emotional हो जाते हैं और वो इस बात का भी मज़ाक उड़ाती है.

10. सोचिए आपने पुलिस को बताया और उन्होंने आपसे पूछा कि आपने क्या पहना हुआ था? क्या आपने पी रखी थी? क्या आप नंगे थे? क्या आपने Kiss किया था.

11. सोचिए अगर ऐसा कोई नियम होता कि अगर कोई पत्नी अपने पति को प्राइवेट पार्ट पर लात मारे तो वो Assault नहीं है.

आपने ऐसे पुरुषों के बारे में सुना हो जो अपने ज़ख़्मी प्राइवेट पार्ट को लेकर Forensic जांच कराने जाएं और वो भी अपने पैसों से.

सोचिए आपने रिकॉर्ड में देखा हो कि सिर्फ़ 1% लात मारने की घटनाओं पर सुनवाई होती है.

12. सोचिए नशे में धुत्त एक लड़के को कोई लड़की कई बार लात मारती है.

सोचिए जज ने उस लड़की को बरी कर दिया क्योंकि जज को उस लड़की के भविष्य की चिंता थी.

13. सोचिए एक ऐसे दौर के बारे में जहां हर आदमी ये कह रहा हो कि उसने प्राइवेट पार्ट पर लात पड़ी है.

सोचिए महिलाओं को सबसे ज़्यादा इसकी फ़िक्र हो कि इन बातों से उनकी इज़्ज़त पर आंच आएगी.

14. सोचिए एक महिला राष्ट्रपति चुनाव लड़े.

सोचिए एक ऐसा ऑडियो वायरल जिसमें वो ये कह रही हो कि पुरुषों को लात मारना एक आम बात है.

15. सोचिए वो ये कहे कि जिन पुरुषों ने उस पर इल्ज़ाम लगाया वो सभी झूठे हैं.

वो बदसूरत हैं.

सोचिए कभी कोई पुुरुष राष्ट्रपति न हो.

सोचिए बिना किसी अनुभव के भी वो जीत जाए.

16. सोचिए वो एक ऐसे कैंडिडेट को सपोर्ट करे जो लड़कों को प्राइवेट पार्ट में लात मारने के लिए ही जानी जाती हो.

सोचिए उसने एक जज नोमिनेट किया हो जिस पर किसी पुरुष को प्राइवेट पार्ट पर लात मारने का इल्ज़ाम लगा हो.

सोचिए इल्ज़ाम लगाने वाले को जान जाने के डर से छिपना पड़े.

17. सोचिए लात मारने के इस मामले की सुनवाई न हो या फिर सबूत न देने के लिए उसका मज़ाक उड़ाया जाए.

18. सोचिए वो राष्ट्रपति भरी सभा में इल्ज़ाम लगाने वाले का मज़ाक उड़ाए.

सोचिए भीड़ में मौजूद लोग हंस रहे हों और तालियां बजा रहे हों.

सोच सकते हैं ऐसा कुछ?

देखने के नज़रिए को ज़रा सा बदल के देखने से ही कितना कुछ साफ़ नज़र आने लगता है. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में Brett Kavanaugh को चुना, जिन पर रेप का इल्ज़ाम लगा था.

भले ही ये Kavanaugh के चुने जाने पर लिखा गया हो लेकिन इस ट्विटर थ्रेड ने भारत में शुरू हुए Me too Campaign को लेकर काफ़ी कुछ कह दिया.