फ़िंगरप्रिंट सेंसर और फ़ेस रिकग्निशन का ज़माना अब जाने वाला है. पांच सालों के भीतर ऐसी टेक्नोलॉजी बना ली जाएगी, जिससे आपके शरीर की गंध से ही आपका फ़ोन अनलॉक हो जायेगा.

आपके शरीर का पसीना भी उतना ही अलग होता है, जितने की आपके फ़िंगरप्रिंट. इसलिए आने वाला ज़माना “Sweat Print” का होगा.

आपके पसीने में मौजूद एमिनो एसिड्स से आपका फ़ोन अनलॉक किया जा सकेगा. ये आपके फ़ोन में मौजूद डाटा को सुरक्षित रखने में काफ़ी कारगर साबित होगा.

University at Albany के असिस्टेंट प्रोफ़ेसर Jan Halamek ने बताया कि ये अनलॉकिंग सिस्टम जटिल बायोलॉजिकल सिस्टम पर आधारित होगा. इस तकनीक के सहारे फ़ोन के मालिक के अलावा कोई भी और फ़ोन अनलॉक नहीं कर पायेगा.

ये सुनने में कितना ही अटपटा क्यों न लगे, आने वाले पांच से दस सालों में ये तकनीक हक़ीक़त बनने वाली है. उन लोगों के लिए ये तकनीक वरदान साबित होगी, जिन्हें पासवर्ड याद नहीं रहते.

फ़ेस रिकग्निशन की तकनीक को पहले ही हैकर फ़ेल कर चुके हैं. दस दिन में ही सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने Apple के फ़ेस रिकग्निशन को एक मास्क के सहार फ़ेल कर दिया था. Samsung के फ़ेस रिकग्निशन को भी यूज़र की फ़ोटो से अनलॉक कर लिया गया था.

Source: Thesun