गर्मियां शुरू हो गई हैं, पसीना और धूप से हर कोई परेशान हो रहा है. लेकिन सबसे ज़्यादा डर इन गर्मियों में मलेरिया से होता है. हर साल हज़ारों लोग इस बीमारी से ग्रसित हो जाते हैं और कई लोग तो अपनी जान भी गवां देते हैं.

लेकिन इस बार गुजरात सरकार ने मच्छर और मलेरिया से लड़ने के लिए एक प्लान बनाया है. मच्छर पर हमले के लिए इस बार गुजरात सरकार ड्रोन का सहारा ले रही है. इस बात की जानकारी गुजरात के स्वास्थ्य मंत्री शंकर चौधरी ने दी. उन्होंने बताया कि राज्य में मलेरिया एक बड़ी समस्या है, इससे निजात पाने के लिए राज्य सरकार एक कैंपेन चला रही है. इस कैंपेन में पूरे राज्य का सर्वे किया जाएगा और जिन जगहों पर मच्छर पैदा होने की सम्भावना भी दिखी उस जगह को साफ़ कर ड्रोन से उस जगह पर नज़र रखी जाएगी.

Source: indianexpress

गुजरात, मलेरिया से काफ़ी समय से प्रभावित है. एक आंकड़े के मुताबिक, इस राज्य में 6,358 मलेरिया केस साल 2014 में सामने आए थे. वहीं 2015 में ये आंकड़ा बढ़ कर 6,857 हो गया. लेकिन सबसे बड़ा उछाल इन्हें 2016 में देखने को मिला, गुजरात में इस साल 9,979 लोग मलेरिया के शिकार हुए थे.

Source: Reuters

इस बार सरकार इन आंकड़ों पर लगाम लगाना चाहती है, यही कारण है कि इस बार गुजरात सरकार ने ड्रोन की सहायता लेने का फ़ैसला लिया है. इन सब के साथ एक 104 नम्बर की हेल्पलाइन बनाई है, जिसमें राज्य के किसी भी कोने से फ़ोन कर के पीड़ित के बारे में जानकारी दी जा सकती है. इस नम्बर पर कॉल कर के पीडित तक सहायता भी पहुंचाई जा सकती है.

Source: Reuters

गुजरात सरकार द्वारा उठाया गया ये एक अच्छा कदम है. बस अब थोड़ी सी जागरुकता लोगों के अंदर भी आनी चाहिए. तो मलेरिया को हराया जा सकता है.