मुंबईवालों के लिए एक अच्छी ख़बर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वकांक्षी प्रॉजेक्ट, स्वच्छ भारत अभियान का साथ देने वाले अफ़रोज़ शाह एक बार फिर से 'वर्सोवा बीच' की सफ़ाई में जुटने वाले हैं. बताया जा रहा है कि 'वर्सोवा बीच' क्लीन-अप दुनिया के सबसे बड़े नागरिक-संचालित पर्यावरण कार्यक्रमों में से एक है.

हालांकि, गुंडों से लगातार मिल रही धमकियों और MCD की लापरवाही के चलते अफ़रोज़ को सफ़ाई अभियान बीच में बंद करना पड़ा था. ख़बरों की मानें, तो 109 सप्‍ताह तक चले सफ़ाई अभियान के तहत समुद्र से अब तक करीब 5 मिलियन किलोग्राम कचरा हटाया जा चुका है. ये परिवर्तन अविश्वनीय और अद्भुत था. वहीं गणपति महोत्सव के बाद 'वर्सोवा बीच' पर जमा हुए कूड़े को साफ़ करने में अफ़रोज़ को मुंबईवालों का भी साथ मिला और सभी ने एकजुट होकर स्वच्छता अभियान को सफ़ल बनाने की कोशिश की.

इस दौरान कार्यक्रम को बंद करने का फ़ैसला शाह के साथ-साथ, इसमें लगे Volunteers के लिए भी काफ़ी निराशाजनक था. इसके बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शाह से मुलाकात कर उन्हें सुरक्षा का आश्वासन दिया है, साथ ही अभियान को जारी रखने के लिए भी कहा.

DNA से बातचीत के दौरान शाह ने बताया, 'सरकार ने क्षेत्र में नियमित गश्त के लिए पुलिसकर्मियों की एक टीम को नियुक्त करने की योजना बनाई है, जिसके चलते स्वंयसेवकों की सुरक्षा का आश्वासन दिया जा रहा है, जो सबसे ज़्यादा चिंता का विषय था.'

आगे बताते हुए वो कहते हैं कि हमें उम्मीद है कि सरकार आगे भी सहायता जारी रखेगी.

बता दें, 33 वर्षीय शाह पेशे से हाईकोर्ट वकील हैं और PM मोदी ने 'मन की बात' में पर्यावरणविद अफ़रोज़ शाह के प्रयासों की प्रशंसा भी की थी.