ख़ुरशीद अख़्तर उर्फ़ श्यामा... 40 साल लंबे करियर में 175 फ़िल्में करने वाली इस बेहतरीन अदाकारा ने कल रात इस दुनिया को अलविदा कह दिया. श्यामा 82 वर्ष की थीं.

Source- Firstpost

श्यामा ने ''सावन', 'शारदा', 'सूरज चंदा', 'बरसात की रात', 'मिर्ज़ा साहिबान', 'दो बहनें' समेत तकरीबन 175 फ़िल्मों में काम किया है. श्यामा को 'शारदा' के लिए Best Supporting Actress Award भी मिला था.

Source- Dainik Jagran

अभिनेता जॉनी वॉकर के बेटे नासिर ख़ान ने इस दुखद समाचार की पुष्टि करते हुए बताया,

श्यामा आंटी के देहांत की ख़बर सुनकर दुख हुआ. उन्होंने पिताजी के साथ कई फ़िल्में की थी. पिताजी के नाम पर बनी 'जॉनी वॉकर' में वो हीरोईन थीं. अल्लाह उनके परिवारवालों को सुकून बख़्शे.
Source- 1st Name

श्यामा का जन्म लाहौर में हुआ था और उनकी पहली फ़िल्म थी 'ज़ीनत'. श्यामा ने लगभग 80 फ़िल्मों में सहअभिनेत्री के रूप में काम किया.

फ़िल्म 'आर-पार' उनके करियर का Turning Point था. इसमें उन्होंने गुरु दत्त के साथ स्क्रीन शेयर की. फ़िल्म 'भाई-भाई' का 'ऐ दिल मुझे बता दे' गाना तो हर पुराने गानों के शौक़ीन व्यक्ति ने सुना ही होगा.

Source- Bollywood Bhaskar

श्यामा आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनकी अदाकारी ने उन्हें अमर कर दिया. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे.