गुजरात के सीए विजय रुपाणी की एक सभा में शहीद की बेटी के साथ कुछ ऐसा सलूक किया गया, जिसे देख कर कोई भी शर्मिंदा हो जाएगा. दरअसल, शहीद जवान अशोक ताडवी की बेटी रुपल ताडवी काफ़ी समय से भूमि मुआवज़े की मांग कर रही थी, उसे विश्वास था कि मुख़्यमंत्री उसकी बात सुन समस्या का हल ज़रूर निकालेंगे. वहीं बीते गुरुवार को रैली संबोधन के दैरान वो मुख़्यमंत्री के नज़दीक जाने करने की कोशिश करने लगी, तभी वहां मौजूद पुलिस बल ने पकड़कर किनारे कर दिया.

वीडियो को सोशल मीडिया पर भी अपलोड किया गया, जिसके बाद विपक्षी पार्टियों से लेकर आम जनता तक सरकार की आलोचना करी रही है. हालांकि, शर्मनाक घटना पर बढ़ता विवाद देख वीडियो को हटा दिया गया है.

वीडियो में आप देख सकते हैं कि किस तरह एक शहीद की बेटी सीएम से मिलने की गुहार लगा रही है, लेकिन पुलिसकर्मियों ने उसकी एक न सुनी और उसे रैली से बाहर निकाल दिया.

Video Source : Eenadu India English

बताया जा रहा है कि 2002 में श्रीनगर में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान ताडवी शहीद हो गए थे. इसके बाद तत्कालीन राज्य सरकार ने शहीद के परिवार को मुआवज़े को तौर पर ज़मीन देने का ऐलान किया था, लेकिन परिवार का आरोप है कि सरकार ने अबतक अपना वादा पूरा नहीं किया.