क्रिकेट में Decision Review System को भारतीय क्रिकेट प्रेमी Dhoni Review System कहते हैं. इसकी वजह भी है. कई बार ऐसी हुआ है कि कोहली ने DRS लेने का निर्णय लिया और धोनी ने उन्हें रोका. हर बार धोनी सही साबित हुए.

Source: Rediff

दक्षिण अफ़्रीका के साथ चौथे एक-दिवसीय मैच में फिर से यही देखने को मिला. ये मैच भारत हार गया, लेकिन धोनी ने एक बार फिर साबित किया कि आख़िर क्यों DRS को Dhoni Review System कहते हैं.

जोहान्सबर्ग में हुए एक दिवसीय मुक़ाबले में धोनी ने टीम का एक Review बर्बाद होने से बचाया.

जसप्रीत बुमराह ने हाशिम अमला के लिए बॉल डाली और धोनी ने विकेट के पीछ कैच ले लिया. सबने आउट के लिए अपील की लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया.

मैदान के बाकी खिलाड़ी अमला के आस-पास इकट्ठा हो गये और इतने में रोहित शर्मा ने कोहली को DRS लेने का इशारा किया लेकिन धोनी ने मना कर दिया. और धोनी का एक इशारा ही तो काफ़ी होता है. कोहली ने DRS नहीं लिया और Replay में देखा गया कि बॉल बैट से लगी ही नहीं थी.

धोनी ने एक Review तो बचा लिया पर मैच नहीं बचा पाये. दक्षिण अफ़्रीका ने भारत को 5 विकेट से हरा दिया. सीरिज़ की ये उनकी पहली जीत थी.

जो भी हो, धोनी तो धोनी ही हैं भाई!

Feature Image Source- Deccan Chronicle