आज भी, कई लोग लड़की का शादी तक वर्जिन होना (कुंवारापन ना खोना) बहुत ज़रूरी मानते हैं. यही कारण है कि वर्जिनिटी से जुड़े हुए बहुत से मिथक समाज में फैले हैं. हमारे देश में सेक्स-एजुकेशन तो न के बराबर है, जो सीखना होता है लोग पोर्न देख कर ही सीखते हैं.

ज़्यादातर पोर्न साइट्स में एक केटेगरी होती है 'Virgin'. इस केटेगरी में ऐसे पोर्न वीडियो होते हैं, जिनमें वर्जिन लड़कियों के साथ सेक्स दिखाया जाता है. इन सभी में एक बात कॉमन होती है, सभी में ये दिखाया जाता है कि सेक्स के दौरान लड़की के वजाइना से खून निकलता है. इनका भी बहुत बड़ा हाथ है लोगों के दिमाग में विर्जिनिटी से जुड़ी गलत धारणाएं बनाने में.

Source: Hgcdn

लड़के ही नहीं, कई लड़कियां भी इन मिथकों को सही समझती हैं और बेवजह अपनी वर्जिनिटी को लेकर चिंतित रहती हैं.

असल में क्या है Virginity/कौमार्य?

वर्जिनिटी को किसी एक तरह से नहीं समझाया जा सकता. वर्जिन किसको समझा जाता है, इसके ऊपर भी लोगों की अपनी-अपनी सोच है. अधिकतर जब वर्जिन होने की बात की जाती है, तो वो अकसर महिलाओं के सन्दर्भ में ही की जाती है. पुरुष की वर्जिनिटी को कई समाजों में उतनी अहमियत नहीं दी जाती. अधिकतर लोग ऐसा मानते हैं कि जिस लड़की ने कभी सेक्स नहीं किया हो, वो वर्जिन होती है.

ये हैं इससे जुड़े वो मिथक जो आज भी लोगों के दिमाग में बने हुए हैं:

1. वर्जिन लड़की के साथ सेक्स करने पर खून निकलता है

Source: Wordpress

ऐसा ज़रूरी नहीं है. रिसर्च दिखाती हैं कि 90 प्रतिशत लड़कियों को पहली बार सेक्स करने के दौरान खून नहीं आता. पर अभी भी कई ऐसे मर्द हैं, जो आनंद के खास पलों में एक-दूसरे में खो जाने से ज़्यादा ज़रूरी ब्‍लड स्‍टेन ढूंढना समझते हैं.

अगर लड़की आपके साथ सहज है और कामोत्तेजित है, तो ज़रूरी नहीं है कि पहली बार सेक्स में दर्द होगा या खून निकलेगा. अच्छा फोरप्ले इसकी सम्भावना न के बराबर कर देता है. वहीं अगर एक ऐसी लड़की के साथ भी यदि जबरन सेक्स किया जाये (जैसा कि रेप में होता है) तो ब्लीडिंग हो सकती है.

2. Hymen सेक्स करने से ही टूटता है

Source: Meninos

टैम्पोन का इस्तेमाल, घुड़सवारी, साइकिलिंग, यहां तक कि योग की वजह से भी ये झिल्ली हट सकती है. यह भी हो सकता है कि लड़की की झिल्ल्ली बेहद पतली हो या शायद जन्म के समय से ही ना हो. हर लड़की का Hymen अलग होता है. कई बार हाइमन संबंध बनाने के बाद भी रहता है, ये लचीला होता है.

3. हर वर्जिन लड़की का Hymen होता है

Source: Soc

कई लड़कियों में जन्म से ही ये नहीं होता, कई बार खेल-कूद के दौरान ये बिना सेक्स के भी हट चुका होता है. इसका मतलब यह नहीं कि उसके किसी के साथ शारीरिक सम्बन्ध रहे होंगे.

4. लड़की के शरीर की बनावट खोल सकती है उसकी सेक्स लाइफ का राज़

Source: Calculator

सिर्फ अनपढ़ ही नही, कई पढ़े-लिखे लड़के भी लड़कियों के शरीर को देख कर जज करते हैं कि उसकी सेक्स लाइफ कैसी है. कुछ कहते हैं कि जो लड़कियां सेक्स कर चुकी होती हैं, उनके पेट का निचला हिस्सा निकल आता है, ये भी कहा जाता है कि सेक्स करने से लड़कियों के कूल्हे बड़े हो जाते हैं, ज़्यादा सेक्स करने वाली लड़कियों के स्तन ढीले हो जाते हैं, इस तरह के कई मिथक लड़कों के बीच प्रचलित होते हैं. असल में ये सभी चीज़ें जींस और लाइफस्टाइल पर निर्भर करती हैं. सेक्स करने पर शरीर में ऐसे कोई बदलाव नहीं आते हैं, जिन्हें देख कर बताया जा सके कि कोई वर्जिन है या नहीं.

5. '2 फिंगर टेस्ट' से पता लगाया जा सकता है कि लड़की ने पहले सेक्स किया है या नहीं

Source: Sagacom

किसी लड़की के हाईमन या योनि को देखकर कोई अनुभवी डॉक्टर तक यह नहीं बता सकता कि इस लड़की ने कभी सेक्स किया है या नहीं. इसलिए वर्जिनिटी टेस्टिंग भरोसेमंद नहीं है. वर्जिनिटी का पता लगाने का सिर्फ एक ही तरीका है और वो है खुद उस लड़की से पूछना और वो जो जवाब दे उसे मानना. क्योंकि अगर वो न चाहे तो आपको वैसे भी पता नहीं चलेगा.

6. लड़की का चाल-ढाल और व्यवहार भी देते हैं उसके वर्जिन होने की गवाही

Source: Theboredmind

कुछ दकियानूसी तो ये भी कहते हैं कि पैर फैला कर चलने वाली लड़कियां सेक्स कर चुकी होती हैं. कुछ तो ये भी समझते हैं कि जो लड़कियां पहली बार सेक्स करने पर रोती या चिल्लाती नहीं हैं, वो वर्जिन नहीं होतीं. असल में यदि लड़की सेक्स के दौरान कामोत्तेजित होती है, तो ऐसा दर्द नहीं होता है कि वो चीखने लगे.

7. वर्जिन लड़कियों के साथ सेक्स ज़्यादा आनंददायक होता है

Source: Tabloidnova

वजाइना ऐसा अंग होता है जो लड़की के उत्तेजित होने पर फैलता है और सामान्य स्थिति में वापस अपने आकार में आ जाता है, बिलकुल उसी तरह जैसे पुरुषों का लिंग. इसलिए सेक्स करने से इसके आकार पर कोई असर नहीं पड़ता है.

पर इस मिथक के चलते आज मार्किट में 'Vagina Tightening Gel' जैसे बेतुके प्रोडक्ट भी आ चुके हैं.

8. एक बार टूट चुके Hymen को दोबारा ठीक नहीं किया जा सकता

Source: Designerbody

वैसे तो Hymen का होना बिलकुल गैरज़रूरी है, पर फिर भी कुछ लोगों की पिछड़ी सोच के कारण 'Hymenoplasty' नाम की Reconstruction सर्जरी की जाने लगी है, जिसमें Hymen को दोबारा बना दिया जाता है. ये प्रक्रिया महंगी होने के साथ-साथ दर्दनाक भी होती है.

अगर अब भी बात पल्ले न पड़ी हो तो ज़रा ये वीडियो देख लें, दिमाग की खिड़कियां खुल जाएं शायद:

वर्जिनिटी के आधार पर किसी का चरित्र आंकना समाज में ज्ञान और शिक्षा की कमी का ही परिणाम है और इसके आधार पर किसी महिला को पवित्रता का सर्टिफिकेट देना दुखद है.

लड़कियों की वर्जिनिटी को आधुनिक युग में नारी की अग्निपरीक्षा माना जाना कई लड़कियों के लिए चिंता का कारण बन जाता है. पहली रात का एक्साईटमेंट डर में बदल जाता है क्योंकि उसके पति के दिल में उसकी इज्ज़त उसके योनि से निकले वाले खून पर निर्भर होती है.

विकसित देशों में वर्जिनिटी महज़ मज़ाक बन कर रह गयी है और हमारे यहां आज भी लोगों की ज़िन्दगियां इसके चक्कर में बर्बाद हो रही हैं. अच्छी सेक्स-एजुकेशन इस स्थिति को बदल सकती है.

ये पोस्ट शेयर कर के ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को ये जानकारी दें. हो सकता है आप भी किसी लड़की को वर्जिनिटी के कारण बेवजह ज़िल्लत झेलने से बचा लें.