अगर आप वाइल्डलाइफ़ के शौकीन हैं और आपको जंगली जानवर देखना पसंद है, ख़ासकर बाघ जैसे जंगली जानवर, तो आपको भारत के नेशनल पार्को से बेहतर जगह पूरी दुनिया में कहीं नहीं मिलेगी. जब बाघों की संख्या पूरी दुनिया में कम हो रही थी, तो भारत के नेशनल पार्क उनको बचाने में लगे थे.

ऐसे ही कुछ फ़ेमस नेशनल पार्क हैं, जहां बाघों को शिकारियों से बचा कर रखा गया है, जिनमें ये 5 नेशनल पार्क प्रमुख हैं.

1. जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क

Source: Hops

उत्तराखण्ड के नैनीताल ज़िले में स्थित जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, भारत का सबसे पुराना नेशनल पार्क है. बाघों की रक्षा करने के लिए बाघ परियोजना पहल के तहत आने वाला ये देश का पहला पार्क था.

520 वर्ग किलोमीटर फैले इस पार्क में पहाड़, नदी, दलदली गड्ढे, घास के मैदान और एक बड़ी झील है. ये पार्क इकोटूरिज्म के लिए भी ख़ासा फ़ेमस है. बाघों के अलावा यहां आपको तेंदुए, जंगली बिल्लियां, चीतल, संबल, सियार, भालू, और भी कई तरह के जानवर मिलेंगे.

ये पार्क 'Elephant Park' के नाम से भी मशहूर है क्योंकि यहां बड़ी संख्या में जंगली हाथी हैं. रामगंगा नदी से इन हाथियों को अच्छे से देखा जा सकता है.

पार्क अक्टूबर से जून तक खुला रहता है, लेकिन बाघ देखने का सबसे अच्छा समय मार्च से जून है.

2. कान्हा नेशनल पार्क

Source: Wikipedia

कान्हा नेशनल पार्क भारत के प्रमुख नेशनल पार्को में से एक है. 945 वर्ग किलोमीटर में फैला ये पार्क, Rudyard Kipling की फ़ेमस किताब 'जंगल बुक' की भी प्रेरणा रहा है.

ये पार्क बाघ और बारहसिंगा देखने के लिए सबसे अच्छी जगह है. इसके अलावा यहां तेंदुआ, गौर, चीतल हिरण, सांभर, सियार जैसे कई जानवर हैं और पक्षियों की 250 से अधिक प्रजातियां हैं.

यहां बाघ देखने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून है.

3. बांधवगढ़ नेशनल पार्क

Source: Bandhavgarhnationalparks

मध्य प्रदेश के विंध्य पर्वत में दूर तक फैले बांधवगढ़ नेशनल पार्क में घने जंगल, खड़ी चट्टानें और खुले मैदान हैं. इसका क्षेत्रफल 437 वर्ग किलोमीटर है.

ये पार्क सफे़द बाघों के लिए मशहूर है, लेकिन अब यहां कोई सफ़ेद बाघ नहीं है.

इस पार्क में आप बाघ, एशियाई सियार, धारीदार लकड़बग्घा, बंगाली लोमड़ी, भालू, जंगली बिल्ली, भूरा नेवला और तेंदुआ सहित कई तरह के दूसरे जानवर देख सकते हैं. यहां घूमने का सबसे अच्छा तरीका ये है कि आप जीप या हाथी सफ़ारी का सहारा लें.

पार्क अक्टूबर से जून तक खुला रहता है, लेकिन बाघ देखने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून तक है.

4. सतपुड़ा नेशनल पार्क

Source: Independent

मध्य प्रदेश के होशंगाबाद ज़िले में रेतीले पत्थर वाली चोटियों, घने साखू के जंगलों और बड़े-बड़े तालाबों वाला सतपुड़ा नेशनल पार्क, भारत के सभी नेशनल पार्को में सबसे कम देखा गया है. ये पार्क बाघ संरक्षण के लिए ज़्यादा फ़ेमस है.

524 वर्ग किलोमीटर में फैले इस पार्क में बाघ के अलावा, तेंदुआ, सांभर, चीतल, नीलगाय, चौसिंगा, चिंकारा, गौर, जंगली सुअर, जंगली कुत्ता, भालू, काला हिरण, लोमड़ी और साही आसानी से देखा जा सकता है.

वैसे तो अक्टूबर से मार्च का मौसम यहां घूमने के लिए सबसे अच्छा होता है, लेकिन अप्रैल और मई बाघों को देखने का सबसे सही समय है.

5. रणथंभोर नेशनल पार्क

Source: Enchantingtravels

राजस्थान के दक्षिणी ज़िले सवाई माधोपुर में 1334 वर्ग किलोमीटर में फैला रणथंभोर नेशनल पार्क, देश के सबसे बड़े पार्को में से एक है.

1980 में इस पार्क को नेशनल पार्क का दर्जा मिला और अब ये भारत के सबसे अच्छे बाघ रिज़र्व में से एक है. बाघों के अलावा, इस पार्क में सियार, चीते, हाइना, मगरमच्छ, जंगली सुअर, हिरण और कई तरह के जानवर हैं. फ़ोटोग्राफ़ी के लिए ये पार्क सबसे ज़्यादा पसंद किया जाता है.

वैसे तो पार्क अक्टूबर से जून तक खुला रहता है, लेकिन बाघ देखने का सबसे अच्छा समय अप्रैल और मई है.

ये थे भारत के प्रमुख नेशनल पार्क, जहां आपको तरह-तरह के जानवर मिलेंगे, लेकिन अगर आप बाघ देखना चाहते हैं तो इनसे बेहतर कुछ नहीं.

Article Source: CNN