हर साल की तरह ही इस बार भी गर्मी अपने पूरे सबाब पर है और हर बार की तरह ही लोग गर्मी से कुछ दिनों के लिए निजात पाने को पहाड़ी इलाकों या ठन्डे स्थानों पर जाते हैं. ऐसी ही एक जगह है वॉटर पार्क, जहां बच्चे तो क्या बड़े भी खूब मौज-मस्ती करते हैं और गर्मी में भी ठंडक को फ़ील करते हैं. लेकिन क्या कभी आपने उनके बारे में सोचा है, जो शारीरिक रूप से अक्षम हैं, क्या उनका मन नहीं करता होगा ऐसी जगह जाने का जहां वो भी बिना किसी रोक टोक के मज़े कर पायें?

एक इंसान ने इन लोगों के बारे में सोचा और इनकी ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए बनवाया है दुनिया का पहला ऐसा वॉटर पार्क, जो खासतौर पर शारीरिक और मानसिक रूप से अक्षम लोगों के लिए है. इस पार्क का Morgan’s Inspiration Island नाम है, और ये Morgan’s Wonderland का एक एक्सटेंशन है.

ये पार्क दिव्यांग लोगों के लिए खुल चुका है, तो आइये अब देखते हैं इस पार्क में खेलते-कूदते इन मासूमों की कुछ दिल को छू लेने वाली तस्वीरें.

वाटर पार्क्स में लोग खूब मौज-मस्ती करते हैं, लेकिन इस तरह एक ज़्यादातर वंडरलैंड्स दिव्यांगों के अनुरूप नहीं हैं.

लेकिन अब इस सोच को बदलने का प्रयास किया है एक वाटर पार्क Morgan’s Wonderland ने. इसके लिए Morgan’s Inspiration Island को धन्यवाद कहना चाहिए.

ये दुनिया का पहला ऐसा Water Park है, जो शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के लिए भी अपने दरवाज़े खोलता है.

पार्क के फ़ाउंडर Gordon Hartman का कहना है, 'हमारा लक्ष्य है यहां आने वाले सभी गेस्ट्स को एक सुरक्षित, आरामदायक और कम भीड़-भाड़ वाले वातावरण में एक रोमांचक अनुभव प्रदान करना.'

ये पार्क Texas के San Antonio शहर में स्थित Morgan’s Wonderland का ही एक एक्सटेंशन है.

Hartman ने अपनी बेटी Morgan के नाम पर रखा है, जो एक दिव्यांग है.

उन्होंने Morgan’s Inspiration Island को डॉक्टरों, माता-पिता, शिक्षकों, Special Needs Therapists और देखभाल करने वालों की मदद से बनाया है.

ये पार्क सभी प्रकार के दिव्यांग लोगों की ज़रूरतों को ध्यान में रखकर बनाया गया है.

इस जगह पर पेरेंट्स को अपने बच्चे की लोकेशन को ट्रेस करने वाले ब्रेसलेट्स दिए जाते हैं, ताकि वो अपने बच्चों तक आसानी से पहुंच सकें.

यहां पर Pneuchairs, एयर-पावर और वॉटरप्रूफ व्हीलचेयर भी प्रदान करता है, व्यक्ति के परिवार वाले किराए पर बिना कोई पैसा दिए प्राप्त कर सकते हैं.

पार्क के हर कोने में व्हीलचेयर आसानी से ले जायी सकती है.

और 'Special Needs' वाले बच्चे पार्क में मुफ़्त में एंट्री कर सकते हैं.

Gordon ने कहा, 'ये पार्क व्यक्तियों को भौतिक या संज्ञानात्मक विशेष ज़रूरतों के साथ ऐसी जगह देने का वादा करता है, जहां वो बिना रूकावट और कठिनाई के खेल सकते हैं.'

'ये सिर्फ़ विशेष-आवश्यकताओं वाले लोगों का पार्क नहीं है,बल्कि ये ऐसे लोगों को मुख्य धारा में शामिल करने का एक प्रयास है.'

क्या आपको नहीं लगता कि इंडिया में भी दिव्यांगों के लिए इस तरह के सार्वजानिक स्थानों का निर्माण कराया जाना चाहिए? वैसे कई प्रोजेक्ट्स तो आये हैं, लेकिन कब उन पर काम शुरू होगा इस बारे में कहना अभी मुश्किल है.

Source: boredpanda