आजकल फ़ैशन के साथ कौन नहीं चलना चाहता है. हर व्यक्ति बदलते फ़ैशन के हिसाब से कपड़े पहनकर अलग और स्टाइलिश दिखने की कोशिश करता है, ख़ासकर की लड़कियां. आप हर दूसरी लड़की को स्किन फ़िट जींस और हाईहील्स पहने देख सकते हैं. लेकिन ये हाई हील्स और फ़ैशनेबल कपड़े आपको बहुत दर्द भी दे सकते हैं. ऐसा हम नहीं कह रहे, बल्कि ब्रिटिश काइरोप्रैक्टिक असोसिएशन (BCA) द्वारा किये गए एक सर्वे में ये बात सामने आई है.

Source: rd

ब्रिटिश काइरोप्रैक्टिक असोसिएशन (BCA) ने कुछ समय पहले एक सर्वे किया, जिसमें यह बात सामने आई है कि स्किन फ़िट जींस, भारी हैंड बैग, हेवी जूलरी और हाई हील्स आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डालती हैं. सर्वे के अनुसार, आपका फ़ैशनेबल पहनावा आपकी चाल-ढाल और उठने-बैठने पर तो असर डालता ही है, साथ ही साथ आपकी पीठ और गर्दन में दर्द का कारण भी बन सकता है.

Source: punjabkesari

BCA के इस सर्वे से ये बात सामने आई है कि जो लोग टाइट जींस और बड़े हुड वाले कोट पहनते हैं, उनके काम करने की क्षमता कम हो जाती है.

Source: oneindia

साथ ही ऐसे कपड़े आपके जोड़ों पर दबाव डालते हैं, जिस कारण से पैदल चलने की क्षमता भी कम हो सकती है.

Source: indiatimes

इतना ही नहीं, BCA ने दावा किया है कि आजकल महिलाओं में पीठ दर्द की समस्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है और इसका मुख्य कारण उनके भारी बैग हैं. भारी बैग को कंधे पर टांग कर चलने से कंधे पर बहुत ज़ोर पड़ता है और यही दर्द का कारण बनता है.

Source: amazonaws

इसके अलावा ज़्यादातर महिलाओं में भारी-भरकम जूलरी पहनने से भी पीठ और गर्दन में दर्द की समस्या बढ़ रही है.

Source: khabarindiatv

दरअसल, BCA ने 1,062 लोगों पर एक सर्वे किया था, जिसमें पाया गया कि 73 प्रतिशत को पीठ के दर्द की परेशानी थी, जबकि 33 प्रतिशत लोग इस बात से अनजान थे कि उनके पहनावे का असर गर्दन और पीठ पर पड़ सकता है. गौरतलब है कि इस सर्वे में शामिल हुई महिलाओं में से करीब एक-तिहाई महिलाएं ऐसी थीं, जो इस बात से अनजान थीं कि कपड़ों से भी उनकी पीठ और गदर्न का दर्द बढ़ सकता है.

BCA ने साथ ही यह सलाह भी दी है कि जब भी कपड़े ख़रीदें, तो अपनी पीठ और गर्दन का ध्यान रखें. आप ऐसे कपड़े चुनें, जो आपकी दिनचर्या के हिसाब से हों और जब भी भारी चीज़ें जैसे लैपटॉप, बुक्स आदि साथ रखनी हों, तो बैकपैक का इस्तेमाल करें.