जब तक रहेगा समोसे में पास्ता

तब तक दिखाऊं, तुझे बाहर का रास्ता

कुछ ऐसा ही मन करा गाने को, जब एक इंस्टाग्राम पोस्ट में ये तस्वीर देखने को मिली. इस पोस्ट के अनुसार, पूर्वी दिल्ली के कृष्णा नगर में एक ऐसी दूकान है, जहां 35 से भी ज़्यादा तरह के समोसे मिलते हैं. बात दिलचस्प है लेकिन कुछ हज़म नहीं हुई. मतलब प्रयोग करना अच्छी चीज़ है लेकिन जब आलू ही नहीं, तब ये 'समोसा' कैसे हुआ ?

जिज्ञासा में थोड़ी और खोज करी, तो पता चला कहानी यहां ख़त्म नहीं, शुरू होती है. ऐसे तो बड़े कमाल हो रहे हैं दुनिया में. ये देखिये...

1) इस Omelette में अंडे का फ़ंडा नहीं समझ आया. सीधा-सीधा 'बेसन का चीला' कह देते

2) इस पर Green Dot या Red Dot, क्या लगाना पड़ेगा जनाब ?

3) प्याज़ रुलाता है, हलवा ख़ुशियां देता है. फिर तो Mixed Emotions वाला मामला हो जाएगा इसे खा कर

4) क्या यार. Pan Cake बनाने की असफ़ल कोशिश कहते हैं इसे. जाओ किसी और को BANANA ...

5) PAAN पिए सैयां हमारो !

बात सिर्फ़ इतनी है कि

समोसा वही जिसमें आलू हो...

Omelette वही जो अंडे से बने...

और मीट तो Non-Veg ही हुआ न

तो जब कुछ नया बनाने का मन करे, बस एक नया नाम भी सोच लिया करें.