हमारी दुनिया रहस्यों और अजीबो-ग़रीब चीज़ों से भरी है. इसमें बहुत अजीब-अजीब तरह के लोग हैं, जिनके अजीब-अजीब शौक़ हम सबको हैरान कर देते हैं. उनकी यही अजीब आदतें और हरकतें उन्हें सुर्खियों में ला देती हैं. ऐसी ही एक 80 साल की दादी हैं, जिन्हें बालू खाने की अजीब आदत है और ये एक दिन में 500 ग्राम बालू खा जाती हैं. अपनी इसी आदत के लिए  ये चर्चा में बनी रहती हैं, चलि इनके बारे में थोड़ा जान लीजिए.

80 yo woman of varanasi eats 500 grams sand everyday
Source: amarujala

ये भी पढ़ें: दुनिया की सबसे उम्रदराज़ महिला ने तोड़ा एक और रिकॉर्ड, बनी जापान की भी सबसे बुज़ुर्ग़ शख़्स

उत्तर प्रदेश के वाराणसी की रहने वाली इस बुज़ुर्ग महिला का नाम कुसमावती देवी है. कुसमावती को बालू खाने की आदत 18 साल की उम्र से है. आज उम्र के इस पड़ाव पर भी वो बिना डरे हर रोज़ आधा किलो बालू खा जाती हैं. हैरानी तो इस बात से होती है कि इतने सालों से बालू खाते हुए भी उन्हें किसी तरह की कोई समस्या नहीं है, जबकि डॉक्टर्स के मुताबिक़, बालू खाना शरीर के लिए बहुत हानिकारक है और इससे पेट संबंधी समस्याएं होने का डर रहता है.

Sand for good health
Source: amarujala

ये भी पढ़ें: अमो हाजी: दुनिया का वो सबसे बदबूदार इंसान जो 67 सालों से नहाया नहीं है

हालांकि, कुसमावती देवी आपकी तरह खाना भी खाती हैं और नाश्ता भी करती हैं, लेकिन इसके बाद वो बालू ज़रूर खाती हैं. इस पर उनका कहना है, 

18 साल की उम्र में एक बार वो बीमार हो गई थीं, उस बीमारी के इलाज के तौर पर वैद्य ने उन्हें कंडे की राख खाने की सलाह दी. तब से उन्होंने राख खाना शुरू कर दिया, लेकिन बाद में राख खाने की ये आदत धीरे-धीरे बालू खाने की आदत में बदल गई.
Grandmothers are famous all over the world
Source: amarujala

कुसमावती के परिवार वाले अक्सर उन्हें बालू खाने से मना करते हैं, लेकिन वो अपनी ज़िद के चलते सबकी बातों को नज़रअदाज़ कर देती हैं और रोज़ बालू खाती हैं. उनका कहना है कि अगर वो बालू नहीं खाएंगी तो उन्हें नींद नहीं आएगी.

fear of getting sick
Source: scooper

रिपोर्ट्स के मुताबिक,

कुसमावती बालू लाकर पहले उसे धोती हैं फिर सुखाती हैं, इसके बाद खाती हैं. बिना किसी की सुने वो निरंतर बालू खाती हैं.

आपको बता दें, अपनी इस आदत के चलते फ़ेमस हो चुकी कुसमावती एक पोल्ट्री फ़ार्म चलाकर अपना गुज़ारा करती हैं.

Source Link