माता-पिता बनना हर इंसान के लिए ईश्वर का वरदान होता है और बच्चे इंसान के लिए कुदरत का सबसे ख़ूबसूरत तोहफ़ा. नवजात बच्चे के जन्म के बाद जब घर में पहली बार उसकी किलकारियां गूंजती हैं तो पूरा परिवार ख़ुशियों से झूम उठता है. नए मेहमान के आने की ख़ुशी में लोगों को मिठाइयां बांटी जाती हैं. घर में बढ़िया-बढ़िया पकवान बनाए जाते हैं. लेकिन हर बच्चे के नसीब में ये सब कहां हो पाता है. इस दौरान कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं, जिन्हें परिवार के लोग अपनाने से इंकार कर देते हैं. क्योंकि ये बच्चे दिखने में थोड़ा अजीबो-ग़रीब होते हैं. ऐसे में इन्हें जन्म के बाद से ही परिवारवालों और बाहर के लोगों के ताने सुनने पड़ते हैं.

ये भी पढ़ें- अविश्वसनीय: 8 फ़ीट 11 इंच का था दुनिया का सबसे लम्बा आदमी... कैसा दिखता था? खुद ही देख लो 

आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके शरीर में दो की जगह चार टांगें थीं. वो अपने असामान्य पैरों के साथ क़रीब 60 साल तक ज़िंदा रही थीं. मेडिकल साइंस में इस तरह के मामले बेहद कम देखने को मिलते हैं. लेकिन ये सौ फ़ीसदी सच है.

Myrtle Corbin
Source: wikipedia

कौन थीं ये रहस्यमयी महिला? 

इस महिला का नाम मिर्टल कॉर्बिन (Myrtle Corbin) था. मायरटल का जन्म 12 मई 1868 में अमेरिका के टेनेसी में हुआ था. वो जब पैदा हुई तो उसे देख हर कोई हैरान रह गया था, क्योंकि उसके शहीर में दो नहीं, बल्कि चार टांगें थी. इनमें से दो टांगें सामान्य थीं, लेकिन दो अन्य टांगें सामान्य टांगों के ठीक बीचों-बीच थीं. ये पैर उनके दूसरे पैरों के मुकाबले में छोटे व नाजुक थे. पैदा होने के कुछ साल तक मिर्टल इन पैरों पर पूर्ण रूप से खड़ी भी नहीं पाती थीं.

Myrtle Corbin Young To Old
Source: jagran

डॉक्टरों के मुताबिक़, मिर्टल की बीच की दो टांगें उसकी खुद की नहीं, बल्कि उसकी डायपिजस जुड़वा बहन की थीं, जो इस दुनिया में नहीं आ सकी. मां के पेट में उसकी टांगें विकसित हो गईं, लेकिन शरीर विकसित नहीं हो पाया. यही कारण है कि मिर्टल का जन्म चार टांगों के साथ हुआ और उन्हें जिंदगीभर उन पैरों के साथ ही जीना पड़ा. वो अपनी अजन्मी बहन के अंग पर काबू तो पा सकती थी, लेकिन चलते समय उनका उपयोग करना उसके लिए काफ़ी चुनौतीपूर्वक होता था.  

Myrtle Corbin With Husband
Source: ntnews

ये भी पढ़ें- मिस्त्र के पिरामिड पर मिले, दुनिया का सबसे लम्बा आदमी और दुनिया की सबसे छोटी महिला 

मिर्टल कॉर्बिन (Myrtle Corbin) के सामान्य पैरों की अंगुलियां तो बराबर थीं, लेकिन जो उनके दो एक्स्ट्रा पैर थे उनमें केवल 3-3 उंगलियां ही थी. मिर्टल की इस विचित्र बात ने उसे दुनिया भर में मशहूर कर दिया था. ये सब बातें आपको अटपटी लग रही होंगी, लेकिन ये सच हैं.

मायरटल कॉर्बिन (Myrtle Corbin)
Source: ntnews

मिर्टल ने शादी भी की थी  

मिर्टल कॉर्बिन की एक बहन भी थी जिसका नाम विल्ले एन था. विल्ले की शादी 'लॉक बिकनैल' नाम के लड़के से हुई थी. लॉक बिकनैल के भाई का नाम डॉक्टर जेम्स क्लिंटन बिकनैल था. जेम्स क्लिंटन बिकनैल ने जब पहली बार मायरटल को देखा तो वो उससे प्यार कर बैठा और मिर्टल शादी के आगे शादी का प्रस्ताव रख दिया. इसके बाद मिर्टल ने 19 साल की उम्र में जेम्स क्लिंटन बिकनेल से शादी कर ली.

Source: sakshi

मिर्टल-जेम्स की शादीशुदा ज़िंदगी का रहस्य

मिर्टल और जेम्स की शादी एक सच्चे प्यार को बयां करती है, लेकिन उनकी शादीशुदा ज़िंदगी की जो सबसे रहस्य्मयी चीज़ थी वो ये कि जेम्स न केवल मिर्टल, बल्कि उसकी अजन्मी बहन के साथ भी यौन संबंध बना सकता था. मतलब ये कि मिर्टल के शरीर में एक नहीं, बल्कि दो योनि मौजूद थीं. अपनी इस परेशानी के बावजूद मिर्टल ने 8 बच्चों को जन्म दिया था जिनमें से 3 बच्चों का बचपन में ही निधन हो गया था.

मिर्टल कॉर्बिन दुनियाभर में 'चार पैरों वाली महिला' के तौर पर मशहूर थीं. आख़िरकार 6 मई 1928 को अमेरिका के टेक्सस में 60 साल की उम्र में मायरटल कॉर्बिन का निधन हो गया था.

ये भी पढ़ें- ये है दुनिया की सबसे लंबी टांगों वाली लड़की, गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड में नाम हुआ दर्ज