बचपन से जवानी तक हर व्यक्ति को साल के दो दिनों का इंतज़ार सबसे ज़्यादा होता है. एक जन्मदिन का और दूसरा 25 दिसंबर का. वजह तो हम सब का लालची दिमाग़ जानता ही है, अरे भाई साहब गिफ़्ट मिलते हैं ना! वो बचपन में तकिये के नीचे मोज़ा रख कर सोना, फिर शाम को क्रिसमस ट्री सजा कर जिंगल बेल गाना, ये सब हमारी बचपन की यादों का महत्वपूर्ण हिस्सा है. वैसे सैंटा किसे क्या गिफ़्ट देगा ये कोई नहीं जानता.

पर हम ये बता सकते हैं कि अगर देश के ये प्रसिद्ध लोग सैंटा बन जाएं, तो इनके गिफ़्ट क्या होंगे:

Designes By: Sanil Modi