इधर पिछले कई दिनों से हम-सभी का पसंदीदा शहर कोलकाता ख़बरों और सुर्खियों में है. और इसके पीछे की वजह सुन कर आप दंग रह जाएंगे. 44 वर्षीय पार्थ डे जो कि कोलकाता के मंहगे रिहाइशी इलाके में रहते हैं. वे उनके घर में उनकी बहन की कंकाल के साथ पाये गए हैं. उनकी बहन आज से लगभग 6 माह पूर्व मृत हो चुकी थीं. उन्होंने उनके पालतू मृत कुत्तों के कंकालों को भी सहेज कर रखा था. वे उन कंकालों को रोज भोजन भी परोसते थे. जब पुलिस ने उनसे इस मामले में पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि, उनकी बहन हर रात भोजन हेतु आती है. अब ये तो रही कोलकाता की रहस्यमयी कहानी, मगर हम यहां आपको वाकिफ़ कराने जा रहे हैं देश-दुनिया के कुछ ऐसे किस्सों से जो इस कहानी से मिलती-जुलती हैं. तो आप कमर कस कर तैयार हो जाइए...

10. एक औरत जिसने उसके मृत बेटे की 18 वर्षों तक देख-भाल की.

जब जॉर्जिया के बाशी गांव के रहने वाले जोनी बकरादज़े की मौत आज से दो दशक पूर्व हो गयी थी. उसकी उम्र 22 थी और उसका एक दो वर्षीय पुत्र था. तो उस शख़्स को दफनाने के बजाय उसके परिवार ने फैसला लिया कि वे जोनी के शरीर की देख-भाल करेंगे ताकि उसका पुत्र अपने पिता के बारे में जान सके. जोनी की मां उसके मृत शरीर का पूरा देख-भाल करती थी, और जोनी के जन्मदिन के मौके पर उसे नये कपड़े भी पहनाया करती थी. वह परिवार जोनी के मृत शरीर को एक ताबूत के भीतर रखता है, जिसमें उन्होंने एक खिड़की बना रखी है.

9. एक व्यक्ति जो उसकी मृत पत्नी को कब्र से निकाल लाया.

वियतनाम में रहने वाले ली वान को सन् 2009 में एक मानव आकृति वाले जिप्सम मूर्ति के साथ देखा गया था, जिसमें उनके मृत पत्नी का शव था. जब सन् 2003 में उनकी पत्नी का इंतकाल हुआ, उन्होंने उनकी पत्नी की कब्र पर सोना शुरु कर दिया. उन्होंने उस कब्र के साथ वाली जगह पर एक सुरंगनुमा जगह बना रखी थी. लेकिन सन् 2004 में वे उनकी पत्नी के कब्र को खोद कर घर ले आए, और उसके शरीर पर प्लास्टर और मसाले का लेप लगा दिया. अंतिम बार जब सन् 2011 में उन्हें देखा गया था तब भी वे उनकी मृत पत्नी के शव के साथ देखे गए थे. उनके बच्चे भी उनके इस कृत्य को लेकर सहज पाये गए हैं.

8. एक औरत जो उसके मृत पुरुष मित्र के साथ NASCAR देखती थी.

चार्ल्स ज़िगलर और उनकी 72 वर्षीय महिला मित्र लिंडा चेज को NASCAR देखने का बड़ा शौक था. जब चार्ल्स की मौत सन् 2010 में हो गई, तो लिंडा को इस बात से बड़ा धक्का लगा. उसने उस मृत शरीर को एक ममी के तौर पर विकसित किया और उनके रहने वाले कमरे में कुर्सी पर बैठा दिया. जहां से वह उसके साथ-साथ NASCAR देखा करती. लिंडा पुलिस की सामाजिक जांच-पड़ताल से लम्बे समय तक बचती रही, लेकिन सन् 2012 में पुलिस ने उसे खोज निकाला.

7. एक औरत जो उसके पति के पुनर्जीवित होने का इंतज़ार करती रही.

जब 61 वर्षीय लूसियो चाकू उसकी मृत्युशैय्या पर था, तो उसने अपनी अंतिम इच्छा पत्नी से जाहिर की. उसने कहा कि उसके शरीर को कहीं सुरक्षित रख दिया जाए. क्योंकि वह फ़िर से ज़िंदा हो उठेगा. उसकी पत्नी ने भी उसके शरीर को बेडशीट से लपेटकर बेडरूम में रख दिया. समय बीतने के साथ-साथ उस मृत शरीर में बदबू और सड़न होने लगी. वह लगभग 30 दिनों तक उसके पुनर्जीवन के आस में लगी रही. मगर धीरे-धीरे वह नाउम्मीद हो गई. और उसे ख़ुद के आंगन में ही दफना दिया.

6. एक 90 वर्षीय औरतें अपने मृत बहनों के साथ रहती पाई गई.

मार्गेटा, एनिटा, फ्रैंक और इलैन बेर्नस्टॉफ की कहानी तो बेहद अजीबोगरीब है. जब इलैन की मौत हुई तब उसकी बहनों ने उसके मृत शरीर को घर के भीतर ही रखने का फैसला लिया. सन् 2003 में 83 की उम्र में फ्रैंक की मौत हो गई, जिसके शरीर को भी उन्होंने सहेज कर रखा. सन् 2008 में एनिटा की मौत हुई और मार्गेटा अकेली रह गईं. अमेरिका में रहने वाली ये बहनें उनके पड़ोसियों से बेहद मिलनसार व्यवहार करती थीं. वे नर्सिंग होम जाने से कतराती थीं और अंत तक वे वहां नहीं गईं.

5. एक बुजुर्ग महिला अपने मृत पति और बहन के साथ रहती हुई.

पेन्सिलवानिया की रहने वाली जीन स्टीवेन्स अपने पति जेम्स के मरने के बाद उनकी जुड़वां बहन पर निर्भर रहने लगीं. मगर जब सन् 2000 में उनकी बहन भी उन्हें छोड़ गईं. तब यह 91 वर्षीय महिला उन दोनों कब्रों को खोद कर कर घर ले आई ताकि वह उनसे बातें कर सके. जेम्स के शरीर को उसने गैराज में रखा और जून के शरीर को एक कमरे में रख दिया. बाद में पूछने पर स्टीवेन्स ने लोगों को बताया कि जब आप किसी को ज़मीन पर लिटा देते हैं तो उसका मतलब होता है अलविदा. और वह ऐसा नहीं चाहती थी.

4. एक इंसान जो उसकी मृत मां के साथ रहता था, और मर गया.

सन् 2014 की एक दोपहरी में क्लॉडियो अलफेरी 58 साल को उनके अपार्टमेंट की एक कुर्सी पर मृत पाया गया. और उनके बगल एक मृत औरत का सूखा शरीर पड़ा था. वह औरत पैर में चप्पल पहने हुई थी और प्लास्टिक से ढकी हुई थी, जिसे उस घर के किचेन में पाया गया था. फोरेंसिक जांचों में उसे क्लॉडियो की मां पाया गया. क्लॉडियो के पड़ोसी बताते हैं कि उन्होंने उसे लगभग एक दशक पहले देखा था, जब वह 90 साल की थी. उसके बाद से वह नहीं देखी गईं. हालांकि उनके गायब होने के बाद क्लॉडियो ने लोगों को इस बात से आश्वस्त किया था कि वह स्वस्थ और भली-चंगी हैं.

3. एक पुरुष जिसने उसकी महिला मित्र के मृत शरीर के हिस्से को कमरे में छिपा दिया.

एरिक ग्रम्पेल्ट ने उसकी महिला मित्र को बहुत मारा-पीटा जब उसे कहीं से यह पता चला कि वह उसके साथ धोखा कर रही है. और इतना ही नहीं बल्कि उसने उस औरत को मौत के घाट उतार दिया. उसने अपनी महिला मित्र के शरीर को बेडशीट में कस कर बांध दिया. और बदबू के फैलने से रोकने हेतु पूरे कमरे और आस-पास लगातार सेंट का छिड़काव करता रहा. मगर पुलिस ने उसे लगभग 2 माह बाद धर दबोचा.

2. नेक्रोफिलिया का एक किशोर जो उसके मृत मां के साथ रहता पाया गया.

बात सन् 1980 की है जब एक औरत की मौत उसके घर में ही हो गई थी. उस औरत का किशोरवय बेटा उसके बाद भी उसके साथ रहता था. आगे की जांच-पड़ताल में जो बातें निकल कर सामने आई हैं, वह आपको परेशान कर सकती हैं. पहले-पहल तो उसने उसके शरीर को विकृत कर दिया और फिर उसके साथ बलात्कार किया. ऑटोप्सी रिपोर्टों की मानें तो ये सारे वीभत्स कृत्य उस औरत के मौत के बाद किए गए थे.

हम यह तस्वीर जान-बूझ कर नहीं दे रहे...

1. एक वैज्ञानिक जो एक मरीज के मृत शरीर के प्रति आसक्त था.

यह कहानी एक ऐसे वैज्ञानिक की है जो उसके ही एक मरीज जिसे टी.बी थी के प्रति आसक्त हो गया था. कार्ल टांज़लर नामक यह रेडियोलॉजिस्ट कार्ल वोन कोजेल से प्रेम करने लगा था. यह बात सन् 1930 की है और सन् 1931 में कोजेल चल बसी. वह वैज्ञानिक उस लड़की के कब्र के पास बैठा रहता और एक दिन उसने उस लड़की को कब्र से खोद निकाला. उन्होंने उसके आंखों की जगह पर शीशे की आंखें लगा दी. और उसके पूरे शरीर में मोम भर दिया. इस वैज्ञानिक को 7 साल बाद गिरफ्तार कर लिया गया, हालांकि उसे सामान्य घोषित करके छोड़ दिया गया. उस मृत लड़की के शरीर से जांच के दौरान उसके यौनांगों में उस वैज्ञानिक के वीर्य के नमूने पाये गए.

This Article is curated from: wonderslist

आख़िर दुनिया को यूं ही अजीबो-गरीब लोगों का अड्डा थोड़े न कहा जाता है. यहां कुछ लोग ऐसे भी मिलेंगे किसने सोचा था. मगर ये सारे वाकये सच हैं, और हमारे ही समाज का हिस्सा हैं.