वो प्रेगेंट थी, दर्द से चिल्ला रही थी, लेकिन परिवार से लेकर डॉक्टर तक को उसकी पीड़ा नहीं दिखाई दी और न ही उसकी दर्द भरी चीखें सुनाई दी. आखिर में महिला ने बिल्डिंग से कूद कर अपनी और अपने होने वाले बच्चे की ज़िंदगी ख़त्म कर ली. दिल दहला देने वाली ये घटना चीन की है.

दरअसल, चीन के हॉस्पिटल से एक ऐसा वीडियो सामने आया, जिसे देखने के बाद किसी भी शख़्स का दिल पसीज जाए. वीडियो में Ma नाम की गर्भवती महिला दर्द से तड़प रही है, डिलीवरी की गुहार लगा रही, लेकिन किसी ने भी इसकी मदद करना उचित नहीं समझा.

Ma सिज़ेरियन तरीके से बच्चा चाहती थी, लेकिन उसके परिवार ने इसके लिए मना कर दिया. वो हॉस्पिटल में दर्द के कारण बैचेन थी, उसने डॉक्टर से भी ऑपरेशन के ज़रिए डिलीवरी करने के लिए कहा, लेकिन डॉक्टर ने चीनी Law का हवाला देते हुए मना कर दिया. चीन के कानून के मुताबिक, डॉक्टर तब तक सीज़ेरियन बेबी नहीं कर सकते, जब तक महिला के परिवार का कोई सदस्य इसके लिए हां न कर दे.

हॉस्पिटल के मुताबिक, महिला की नेचुरल डिलीवरी उसकी हेल्थ के लिए नुकसान दायक साबित हो सकती थी, इसके साथ ही हॉस्पिटल ने Weibo पर एक बयान ज़ारी करते हुए कहा, 'महिला के परिवार वाले नहीं चाहते थे कि उसकी सिज़ेरियन डिलीवरी हो. उन्होंने हॉस्पिटल का फ़ॉर्म भरते हुए भी नॉर्मल डिलीवरी की मांग की थी.'

वहीं पत्रकारों से बातचीत के दौरान Ma के पति ने हॉस्पिटल पर आरोप लगाते हुए कहा, 'हॉस्पिटल वाले झूठ वाले रहे हैं, इन्होंने अंतिम वक़्त पर ऑपरेशन करने से मना कर दिया था.'
iFeng की रिपोर्ट के मुताबिक, Ma को अटेंड करने वाले डॉक्टर को सस्पेंड कर दिया है.

दोनों में से कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ ये तो हम नहीं जानते, लेकिन हां इतना ज़रुर कह सकते हैं कि दुनिया का कोई भी कानून किसी भी डॉक्टर को मरते हुए शख़्स की जान बचाने से नहीं रोकता, अगर महिला के परिवार वालों ने ऑपरेशन से डिलीवरी करने के लिए मना कर भी दिया था, तो भी महिला की पीड़ा को देखते डॉक्टर पुलिस का सहारा ले सकते थे.

Video Source : World News

वहीं जैसा कि वीडियो में देखा जा सकता है, दर्द से बैचेन महिला के आस-पास उसके परिवार वाले और हॉस्पिटल की नर्स मौजूद हैं. दर्द के कारण महिला बार-बार ज़मीन पर उठ-बैठ रही है, बाद में वही लोग महिला का हाथ पकड़ कर उसे ले जा रहे हैं. गर्भवती महिला की पीड़ा इतनी बढ़ गयी कि उसने हॉस्पिटल की पाचवीं मंज़िल से कूद कर अपनी जान दे दी और सब तमाशा देखते रहे. किसी ने उसे रोकने की ज़हमत भी नहीं समझी. क्या ये सही था?

एक वक़्त पर दो-दो ज़िंदगियों ने इतने में दम तोड़ दिया, इसका असली गुनहगार कौन? कई सवाल, जिसके जवाब सिर्फ़ उस मृत गर्भवती महिला के पास ही हैं.

Source : unilad