Jane Berry को 22 साल की उम्र में Early Menopause डिटेक्ट हुआ था, जिसके बाद डॉक्टरों ने उनसे कहा कि वो कभी मां नहीं बन सकती हैं. इतनी कम उम्र में ऐसी बीमारी का शिकार होना किसी भी औरत के लिए किसी सदमे से कम नहीं हो सकता. लेकिन Jane को एक और झटका लगना बाक़ी था. जब वो बच्चे अडॉप्ट करने का प्लान कर रही थी, तब उसे अपनी कुछ नयी बीमारियों के बारे में पता चला. Early Menopause की वजह से उसमें Arthritis, Osteoporosis और Cerebral Palsy जैसी बीमारियां के लक्षण दिखने लगे थे और इस वजह से वो बच्चे अडॉप्ट भी नहीं कर सकती थी.

लेकिन कुछ समय बाद उसकी ज़िन्दगी में खुशियां दोबारा दस्तक देने लगीं...

Jane अब 39 साल की है, उसकी शादी हो चुकी है और अब उसके पास तीन प्यारी बच्चियां हैं. Jane उन्हें बहुत प्यार करती है और उनका ख्याल भी रखती है. उसका प्यार किसी भी मां से कम नहीं, बस एक फ़र्क है. Jane की तीनों बच्चियां Reborn Dolls हैं. Reborn Dolls हूबहू इंसानों जैसी दिखती हैं और इन्हें आर्टिस्ट तैयार करते हैं.

Jane को इन डॉल्स को अपनी बेटियां बनाने का आईडिया अपनी मां की मौत के बाद आया, जब वो काफ़ी देर तक उनके मृत शरीर के पास बैठी रही. उसने अपनी तीनों बेटियों के नाम भी रखे हैं.

लेकिन लोग उनकी Dolls को मरे हुए बच्चे समझ कर डर जाते हैं और कई बार उन्हें गालियां भी दे चुके हैं. पर Jane उन्हें बच्चों की ही तरह घूमाने लेकर जाती है. वो तीनों को बहुत प्यार करती है. वो उन्हें एक Fake बोतल से दूध भी पिलाती है और उनकी सफ़ाई एक लिए ब्रश भी यूज़ करती है.

वो कहती है कि लो कुछ भी कहें, उसके लिए ये तीनों उसके अपने बच्चे हैं और वो उनकी मां.