अमेरिका, ऑस्ट्र‍ेलिया सहित दुनिया के कई देशों में भारतीयों और अन्य एशि‍याई लोगों के खिलाफ़ नस्लीय दुर्व्यवहार, टिप्पणी की घटनाएं सामने आई थीं. कुछ दिनों पहले अमेरिका के Kansas में 22 फरवरी को एक Bar में भारतीय मूल के इंजीनियर श्रीनिवास कुचीवोतला की एक अज्ञात शख़्स ने गोली मारकर हत्या कर दी थी, उसके कुछ दिनों बाद एक 39 वर्षीय सिख पर भी हमला किया गया. इन दोनों हमलों में हमलावर ने गोली मारते हुए कहा 'Go Back to Your Country' यानी कि 'अपने देश वापस जाओ'. अमेरिका में भारतीयों पर हमलों की बढ़ती घटनाओं के बीच एक अमेरिकी ने भारतीयों के खिलाफ़ ये कहते हुए एक ’Hate Video' पोस्ट किया था कि ’हमारी नौकरियां छीन रहे भारतीय’.

पिछले कुछ दिनों में अमेरिका और दूसरे देशों में बसे प्रवासी भारतीयों पर नस्‍लीय हमलों में इजाफ़ा हुआ है.

अब ऐसा ही एक वीडियो आयरलैंड से सामने आया है, जिसमें एक Irish महिला एशियाई यात्रियों पर नस्ली टिप्पणी करती नज़र आ रही है. वीडियो में साफ़-साफ़ दिख रहा है कि वो महिला खाली सीट पर बैग रखने के लिए एशियाई यात्रियों से कह रही है, 'तुम लोग भारत वापस जाओ'.

इस वीडियो को एक ट्विटर यूज़र ‘TheBexWay’ ने पोस्ट किया है. वीडियो में महिला को सहयात्रियों पर आक्रामक टिप्पणी करते देखा और सुना जा सकता है.

Irish Independent की रिपोर्ट के अनुसार, ये घटना बीते रविवार की है, जब ट्रेन आयरलैंड के Limerick Colbert Station से Limerick Junction जा रही थी. ये महिला को 10 मिनट तक सहयात्रियों पर अभ्रद और बेहूदी नस्लीय टिप्पणियां करती रही.

वो एक एशियाई व्यक्ति से से बेहूदगी के साथ बोल रही है कि 'भारत वापस जाओ और मुझे यह जगह दो.' वहीं जब एक दूसरा व्यक्ति उस यात्री के समर्थन में खड़ा हुआ, तो उसके साथ भी उस महिला ने अवांछनीय बर्ताव किया.

वो महिला ये भी बोल रही है, 'मुझे इंडियंस से नफ़रत है.' और 'तुम्हें आयरिश सीट्स पर नहीं बैठना चाहिए.' इस तरह के अपशब्द वो लगभग 18 मिनटों तक बोलती रही. आखिरकार उन यात्रियों ने सीट, तो छोड़ी ही साथ ही वो ट्रेन से भी उतर गए.

इस वीडियो पर एक व्यक्ति ने कमेंट भी किया, 'अगर ट्रेन में हो रही बहस हाथापाई में बदल जाती, तो कोई भी मदद के लिए आगे नहीं आता, क्योंकि वहां की ट्रेन में लोग डर कर ही सफर करते हैं.

जब आयरिश रेल को इस घटना की सूचना मिली, तो उन्होंने इसकी निंदा की. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि इस तरह की कार्रवाई को सहन नहीं किया जाएगा.

जिस महिला ने ये वीडियो रिकॉर्ड किया है, उसने कहा कि इन भारतीय यात्रियों के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था क्योंकि उस महिला ने 16 मिनट के बाद भी चिल्लाना बंद नहीं किया था. वो पूरे टाइम उनको ऊट-पटांग बातें बोले जा रही थी, जबकि वो चुप हो गए थे.

ये घटना जितनी शर्मनाक है, उतनी ही निंदनीय भी.

Source: hindustantimes