पुरुषों द्वारा महिलाओं को प्रताड़ित करने के कई मामले आपने सुने होंगे, लेकिन इसका ये मतलब बिलकुल नहीं है कि महिलाएं-पुरुषों को प्रताड़ित नहीं कर सकती हैं. कई बार ऐसी घटनाएं होती रहती हैं, जिसमें महिला नहीं बल्कि एक पुरुष वहशी प्रताड़ना का शिकार हुआ होता है.

आज हम आपको एक ऐसे ही मामले से रू-ब-रू करवाने जा रहे हैं, जिसमें एक महिला ने अपने पूर्व पति के साथ चार घंटे सेक्स करने के बाद उसकी आंतों को बाहर निकालने की कोशिश की. जी हां, 35 वर्षीय Dalya Saeed पर आरोप है कि उन्होंने अपने पूर्व पति Bilal Miah पर चाकू से कई बार वार करके उसकी आंतों को खींचकर बाहर निकालने की कोशिश की.

Bilal Miah के पिता ने अदालत को बताया कि कैसे उनके बेटे की पूर्व पत्नी ने पहले उसको सेस करने के लिए उकसाया और 4 घंटे तक सेक्स करने के बाद ये दर्दनाक काम किया.

अदालत ने Bilal का एक पक्ष सुना कि 'उनके शरीर का एक हिस्सा काटकर छोटी आंत के एक टुकड़े को कमरे में पड़े हुए कारपेट पर फेंक दिया गया था.'

Bilal Miah जो पेशे से एक टैक्सी ड्राईवर हैं, ने ज्यूरी को बताया कि उसने अपनी पहली पत्नी द्वारा हमला करने के बाद अपनी अंतड़ियों को वापस अपने पेट में डालने की कोशिश की थी. ये पूरी घटना पहली पत्नी की घर पर ही हुई थी.

हालांकि, Saeed ने बीते सोमवार को Birmingham Crown Court में ट्रायल के दौरान अपने ऊपर लगे हत्या के उद्देश्य से हमला करने, के आरोप को सिरे से नकार दिया.

Source: itv
आपको बता दें कि Bilal ने बीते रविवार को अदालत में जूरी को बताया कि उस पर Saeed ने 19 अक्टूबर, 2015 को Birmingham के Moseley में स्थित अपने घर में रात के 10 बजे उसके ऊपर हमला किया था. Bilal ने बताया, 'उस दिन बिस्तर पर जाने से पहले हम दोनों के बीच हमारी बेटी की कस्टडी को लेकर बहस हुई थी. सबूत देते हुए Bilal ने कहा कि अचानक ही Saeed ने चाकू से मेरे पेट पर लगातार 2 बार वार किया. मैं केवल ये अनुमान लगा सकता हूं कि वो चाकू या तो बेड पर पहले से रखा हुआ था, या फिर उनके अपने गाउन में छुपा रखा था. चाकू से हुए हमले के बाद मेरी अंतड़ियां पेट से बाहर निकल आयीं थीं. सबकुछ बाहर आ चुका था और वो अंतड़ियों को पकड़कर बाहर की तरफ खींचने की कोशिश करने में लगी हुई थी.'

इसके बाद उन्होंने बताया, 'उसने एक आंत को तोड़कर कारपेट पर फेंक दिया था, लेकिन मैं किसी तरह बाकी अंतड़ियों को समेटने और अपने पेट में वपस डालने में सफ़ल हो पाया.' इसके बाद Bilal ने कोर्ट को बताया कि उन्होंने फ्लैट से भागने की कोशिश भी की, लेकिन Saeed उनको सड़क पर खींच कर ले गई और वहां बड़ी चालाकी के साथ उनके ऊपर लकड़ी के बैट से हमला किया.

ज़ख्मी हालात में बिलाल Bilal किसी तरह 3 बजे के आस-पास नज़दीक ही बने एक घर तक पहुंचा, जब वहां के लोगों ने उसके कराहने की आवाज़ सुनी तो उन लोगों ने पुलिस को बुलाया. आपको बता दें कि ज्यूरी को बताया गया था कि जब Bilal को हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था, तब उनके पूरे शरीर पर 30 घाव थे जिस कारण उनको 10 दिनों के लिए हॉस्पिटल में रहना पड़ा था. इस दस दिनों में उनके 2 ऑपरेशन भी किये गए. फिलहाल अब वो काफी ठीक हो चुके हैं.

Bilal के वकील Adam Western ने ज्यूरी को बताया कि उनके शरीर पर जो घाव थे, वो बहुत गहरे थे.

इसके साथ ही वकील ने यह भी कहा कि Bilal की चोटों के लिए उसकी पूर्व पत्नी ही ज़िम्मेदार है और उसका इरादा उनको मारने का ही था.

अदालत ने Saeed का पक्ष भी सुना, उसने पुलिस को बताया कि उसने अपने पूर्व पति पर हमला खुद को बचाने के लिए किया था, क्योंकि वो उसका रेप करना चाहह रहा था. अदालती जिरह के दौरान Saeed के वकील Patrick ने Bilal ने कबूल किया कि अपनी दो साल की इस्लामिक शादी के दौरान वो Saeed का शारीरिक और मानसिक शोषण किया करता था.

ज्यूरी ने दोनों पक्षों की दलील सुना, जिसके बाद उन्होंने अनुमान लगाया कि इस केस के बाद Bilal और Saeed दोनों को ही अवैध आप्रवासियों के रूप में निर्वासित होने का खतरा हो गया था. क्योंकि Bilal 2010 में स्टूडेंट वीज़ा पर UK आये थे. जो ग़ैरक़ानूनी हो गया था क्योंकि उनको कॉलेज से निकाल दिया गया था. वहीं Saeed जो कि एक इराकी कुर्द महिला थी, जिनको 2012 में UK में आश्रय दिया गया था.

इसके अलावा कोर्ट को यह भी पता चला कि Bilal ने 2012 में ही करीब 4 महीने क़ैद में गुज़ारे थे, लेकिन उनको UK में रहने की अनुमति केवल इसलिये दी गई थी क्योंकि उनकी वहां एक बेटी थी.

अब हमको ये तो नहीं पता कि इस मामले की सच्चाई क्या थी, लेकिन अपने आप में एक अजीबोगरीब मामला था ये.

Source: metro