जापान के मुख्य धर्मों में से एक है शिन्तो धर्म. 8वीं शताब्दी से चले आ रहे इस धर्म के सबसे ज़्यादा अनुयायी जापान में ही हैं. इस धर्म का एक मंदिर 'Okitsu Shrine' जापान के Okinoshima द्वीप पर स्थित है. बीते दिनों इस द्वीप को UNESCO द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित कर दिया गया. हालांकि दुनिया में कई स्थान हैं, जिन्हें ये दर्जा प्राप्त है, लेकिन ये द्वीप अपने आप में खास है.

Source- Independent

इस द्वीप और मंदिर से जुड़ी कई रोचक बातें आपको भौचक्का कर देंगी.

1. अगर हम ये बताएं कि इस द्वीप की आबादी महज़ एक व्यक्ति है, तो शायद आप विश्वास न करें, लेकिन ये सच है. इस द्वीप पर सिर्फ़ एक पुजारी ही रहता है, जो Okitsu Shrine की देख-रेख करता है.

2. इस मंदिर या द्वीप पर कोई भी महिला नहीं जा सकती.

3. इस मंदिर को 17वीं शताब्दी में नाविकों की सुरक्षा की प्रार्थना के लिए बनाया गया था.

4. Japan Times की रिपोर्ट के अुनसार, मंदिर के बनने से पहले Okinoshima में समुद्री व्यापार में इस्तेमाल हुए जहाज़ों की सलामती के लिए पूजा होती थी. ये व्यापार कोरिया और चीन के लोगों के बीच होता था.

5. इस द्वीप पर साल में सिर्फ़ 200 पर्यटक ही जा सकते हैं, वो भी सिर्फ़ साल के एक ही दिन, जो है 27 मई.

Source- Mundotkm

6. यहां पर आज भी सदियों पुराने रीति-रिवाज़ माने जाते हैं.

7. ये मंदिर एक राज़ है क्यों​कि यहां के नियम अनुसार, कोई न यहां की तस्वीरें ले सकता है, न ही इस मंदिर का ज़िक्र बाहरी दुनिया के सामने कर सकता है.

8. यहां जो भी पुरुष आते हैं, वो अपने पूरे कपड़े उतार कर, शरीर का शुद्धिकरण करते हैं, फिर यहां प्रवेश करते हैं.

9. पर्यटक यहां से कोई भी चीज़, ले कर नहीं जा सकते.

ये द्वीप किसी रहस्य से कम नहीं. कोई नहीं जानता यहां क्या होता है!

Article Source- BBC