Forbes India, Forbes का ही भारतीय एडिशन है, जिसे रिलायंस इंडस्ट्रीज़ का मीडिया ग्रूप नेटवर्क 18 संभालता है. ये प्रतिवर्ष भारत के 100 सबसे अमीर बिजनेसमैन की लिस्ट जारी करता है. इस साल जो फ़ोर्ब्स इंडिया ने 100 सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट जारी की है उनमें 6 भारतीय महिलाओं का भी नाम शामिल है. आइये, आपको बताते हैं उन 6 सबसे अमीर भारतीय महिलाओं के बारे में.

1. सावित्री जिंदल

savitri jindal
Source: indiatimes

Forbes की लिस्ट में जिन 6 सबसे अमीर भारतीय महिलाओं को शामिल किया है, उसमें पहले स्थान पर हैं OP Jindal Group की चेयरमैन सावित्री जिंदल. इनकी कुल संपत्ति 18 बिलियन डॉलर यानी लगभग 13.46 लाख करोड़ दर्ज की गई है. पिछले एक साल में इनकी आय में 13 बिलियन डॉलर का इजाफ़ा हुआ है.

2. विनोद राय गुप्ता 

vinod rai gupta
Source: forbesindia

फ़ोर्ब्स (Forbes) की लिस्ट में दूसरी सबसे अमीर भारतीय महिला का नाम है विनोद राय गुप्ता, जो Havells से संबंध रखती हैं. इनकी कुल संपत्ति 7.6 बिलियन डॉलर यानी लगभग 5.68 लाख करोड़ दर्ज की गई है. वहीं, फ़ोब्स की लिस्ट में इनका 24वां स्थान है. 

3. लीना तिवारी 

leena tiwari
Source: starsunfolded

भारत की तीसरी सबसे अमीर भारतीय महिला हैं लीना तिवारी, जो USV Private Limited की चेयरपर्सन हैं. फ़ोर्ब्स की लिस्ट में ये 43वें स्थान पर हैं. इनकी कुल संपत्ति 4.4 बिलियन डॉलर यानी लगभग 3.28 लाख करोड़ दर्ज की गई है.

4. दिव्या गोकुलनाथ  

divya gokulnath
Source: fortuneindia

सबसे अमीर भारतीय महिला की लिस्ट में चौथे स्थान पर हैं दिव्या गोकुलनाथ, जो Byju's की को-फ़ाउंडर हैं. वहीं, लिस्ट की ओवरऑल रैंक में ये 47वें स्थान पर हैं. इस साल इनकी कुल संपत्ति 4.05 बिलियन (लगभग 3.02 लाख करोड़) डॉलर हो गई है.

5. किरण मजूमदार शॉ

kiran majumdar show
Source: wikipedia

सबसे अमीर भारतीय महिलाओं में पांचवे स्थान पर हैं किरण मजूमदार शॉ और फ़ोर्ब्स की ओवरऑल रैंक में इनका स्थान 53वां है. इनकी कुल संपत्ति 3.9 बिलियन डॉलर (लगभग 2.91 लाख करोड़) दर्ज की गई है. किरण मजूमदार Biocon की चेयरपर्सन हैं.

6. मल्लिका श्रीनिवासन

 Mallika Srinivasan
Source: wikipedia

छठे स्थान पर हैं मल्लिका श्रीनिवासन, जो Tractors and Farm Equipment Limited (TAFE) की चेयरपर्सन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. इनकी कुल संपत्ति 2.89 बिलियन डॉलर (लगभग 2.16 लाख करोड़) दर्ज की गई है.