ज़ोर से मत हंसो लड़की हो

थोड़ी तहज़ीब सीखो लड़की हो
दूसरे घर जाना कुछ तो काम सीख लो

कितना भी अच्छा कर लो, लेकिन आख़िरी में हम लड़कियों को सुनने को यही सब मिलता है, जिसके बारे में सोच कर दुखी होने से कोई फ़ायदा नहीं है. हमें तो हमारे काम की आधी भी तारीफ़ बड़ी मुश्किल से मिलती है. मगर आज हर लड़के से लड़कियां कुछ कहना ज़रूर चाहती हैं, वो शिकायत भी है, तारीफ़ भी और उनकी उन हरकतों के बारे में भी, जो भरी भीड़ में हमें असहज कर देती हैं.

Source: cloudfront

चलिए, तो फिर कहने का सिलसिला चालू करते हैं.

सबसे पहले धन्यवाद

Source: oliveandcocoa

उन सभी पुरूषों के लिए, चाहे वो मुझे ऑटो से सुरक्षित घर पहुंचाने वाले ऑटोवाले हों या मैं रोज़ जिन बसों से जाती हूं, उस बस के कंडक्टर या ड्राइवर.

बस की उस भीड़ में ऐसा नहीं है, कि सब अच्छे हों, लेकिन उन ख़राब में कुछ अच्छे लोग भी मिलते हैं. भीड़ का फ़ायदा न उठाने वाले उन अजनबियों को Thank You.
जिसने मेट्रो की भीड़ से मुझे सुरक्षित निकाला, उसे भी Thank You.
सभी ऑफ़िस के उन सभी मेल स्टाफ़ को, जिन्होंने कभी-भी हमसे ग़लत व्यवहार नहीं किया, हमेशा हमारा ध्यान रखा.

ऑफ़िस के वॉचमैन अंकल, जो हमें मैडम कह कर खड़े हो जाते हैं, ये बहुत अजीब है क्योंकि वो हमसे बड़े हैं.

पिता के रूप में दुनिया का सामना करना सिखाया.
मित्र के रूप में जीवन को आसान बनाया.
पति के रूप में लड़की को स्त्रित्व और मातृत्व से परिचित कराया.

इसके बाद कुछ बातें जो ख़ास हैं, वो बताना चाहूंगी

Source: herway

जब आप किसी भी महिला को इज़्ज़त की नज़र से देखते हैं, तो वो एहसास उसके लिए सर्वोपरि होता है.

जब आप कोमलता से हमारा हाथ थाम कर कहते हैं कि मैं हमेशा तुम्हारा साथ दूंगा.
जब आप हमारी चिंता करते हैं, तो हमें सुरक्षित महसूस होने का एहसास होता है.
जब आप हमसे अनजान होते हुए भी हमारी मदद करने को तैयार हो जाते हैं.
जब आप बिना कहे हमारी भावनाओ को समझ जाते हैं.

कुछ बातों पर नाराज़गी भी है

Source: happierhuman

जो सार्वजनिक स्थानों पर अपनी गंदी हरकतों से हमें ये सोचने पर मजबूर कर देते हैं कि हमें लड़की क्यों बनाया?

जो एक न की सज़ा हमें तेज़ाब से झुलसा कर देते हैं.

Source: catchnews

जो किसी लड़की की योग्यता का सम्मान सिर्फ़ इसलिए नहीं करते कि वो एक लड़की है.

जो विवाह पश्चात पत्नी का सम्मान किये बिना पत्नी को घरेलू हिंसा, वैवाहिक बलात्कार जैसे अपराधों का शिकार बनाते हैं.

कुछ ख़ास बातें आप सबके लिए

Source: samaa

ख़ूबसूरत लड़कियों की तारीफ़ करते हैं, तो जो कम ख़ूबसूरत हैं उन्हें मज़ाक का पात्र न बनाएं.

अगर आपके प्यार को मना भी कर दिया, तो उसकी सज़ा तेज़ाब फ़ेककर मत दें, क्योंकि प्यार ज़बरदस्ती नहीं होता.
जैसे लड़के अपना गुस्सा लड़ाई करके निकाल लेते हैं, वैसे ही हमारे साथ करें. हमसे लड़ लें गुस्सा कर लें, लेकिन उसे दिल में रखकर ज्वालामुखी न बनाएं.

Source: dice

अगर कोई लड़की किसी विषय में आपसे बेहतर ज्ञान रखती है तो इसको स्वीकार करें. लड़की का ज्ञानी होना आपके पुरुषत्व को जरा भी ठेस नहीं पहुंचाएगा.

अगर लड़की हंसकर बात करती है, तो उसे अपनी जागीर न समझें.

ये हर लड़की के दिल की बात है, जो आप लोगों के दिल तक पहुंचाने की कोशिश की है. इसी तरह के और आर्टिकल पढ़ने के लिए क्लिक करें.