अरबपति उद्योगपति शिव नादर की एकमात्र संतान, रोशनी नादर मल्होत्रा को भारत की तीसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी (IT) सर्विसेज़ फ़र्म, HCL Technologies Ltd की चेयरपर्सन नामित किया गया है.

38 साल की रोशनी मल्होत्रा ने 17 जुलाई से कार्यभार संभाला है.

2019 में रोशनी की अनुमानित संपत्ति 36,800 करोड़ बताई जा रही थी. जिसके मुताबिक़ वो भारत की सबसे धनी महिला हैं.

Roshni Nadar Malhotra
Source: vogue

भारतीय उद्यमिता में सबसे प्रभावशाली नामों में से एक, रोशनी ने फ़ोर्ब्स की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में लगातार 3 साल - 2017, 2018 और 2019 अपनी जगह बनाई है.

दिल्ली में जन्मी और पली-बढ़ी रोशनी ने अपनी शुरुआती पढ़ाई वसंत वैली स्कूल से की है. इसके बाद वह अमेरिका चली गईं और इलिनोइस(Illinois) में नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी से रेडियो, टीवी और फ़िल्म कम्युनिकेशन में स्नातक की पढ़ाई पूरी की है.

बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर की डिग्री प्राप्त करने के बाद, वह भारत लौट आईं. उन्होंने कुछ समय के लिए अन्य कंपनियों के साथ भी काम किया. आख़िर में वह HCL में शामिल हो गईं और एक साल के भीतर ही CEO और कार्यकारी निदेशक के पद पर पहुंच गईं.

roshni nadar
Source: economictimes

2013 में वह HCL टेक्नोलॉजी में अतिरिक्त बोर्ड निदेशक के रूप में शामिल हुईं और अब वह अध्यक्ष की भूमिका निभा रही हैं.

अपने पारिवारिक व्यवसाय को आगे बढ़ाने की बात को लेकर एक बार उन्होंने कहा,

'यदि आपको विरासत में अपने माता-पिता द्वारा बनाई गई चीज़ों को प्राप्त करना है, तो आपको जवाबदेह होना भी सीखना होगा.'

HCL
Source: indianexpress

2018 में, रोशनी ने 'द हैबिट्स ट्रस्ट' की स्थापना की जिसका उद्देश्य देश की प्राकृतिक आवास और स्वदेशी प्रजातियों की रक्षा के लिए काम करना है.

1976 में स्थापित हुआ HCL एंटरप्राइज़ कंपनी अब एक $ 9.9 बिलियन का वैश्विक संगठन है, जो लगभग 46 देशों में फैला हुआ है. जिसमें 1,50,000 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं.