Happy Women's Day 2022: औरतें हर वो काम कर रही हैं, जिसे अब तक मर्दों की बपौती समझा जाता था. बाइक चलाना भी एक ऐसी ही चीज़ है. भले ही टीवी एड बनाने वाले आज भी बाइक को लड़कों की चीज़ दिखाकर बेचें, मगर महिलाएं अब बैक सीट से फ़्रंट पर बैठ चुकी हैं. ये महिला बाइकर्स बाइक पर बैठकर न सिर्फ़ हवा से बात करती हैं, बल्कि ताबड़तोड़ स्टंट भी करती हैं.

ऐसे में आज हम आपको उन महिला बाइकर्स से मिलवाने जा रहे हैं, जो अपने पैशन के सहारे सालों से बने इस स्टीरियोटाइप को तोड़ रही हैं. (Happy Women's Day 2022)

ये भी पढ़ें: हर दिन होगा Women's Day अगर लोग महिलाओं से ये बातें कहना शुरू कर देंगे

1. डॉ. निहारिका यादव

पेशे से एक डेंटिस्ट डॉ. निहारिका यादव ने बाइक के लिए काफ़ी पैशनेट हैं. बाइकिंग की दुनिया में वो किसी पहचान की मोहताज नहीं रह गई हैं. उन्हें 'इंडियाज़ फ़ास्टेस्ट लेडी सुपर बाइकर' का ख़िताब भी हासिल किया है. एक ट्रैक रेसर निहारिका को अक्सर डुकाटी पैनिगेल 899 की सवारी करते हुए देखा जाता है और वो मोटरसाइकिल रे में भी हिस्सा लेती हैं. 

2. रौशनी मिस्बाह

'हिजाबी बाइकर' के रूप में पॉपुलर रौशनी मिस्बाह बाइकिंग की दुनिया में एक जाना-पहचाना नाम है. रिपोर्ट्स के अनुसार, रौशिनी अपने कॉलेज में 'बजाज एवेंजर क्रूज़र 220' चलाती थीं. वो अब 100 से ज़्यादा मोटरसाइकिलों की सवारी कर चुकी हैं और सुपरबाइक्स के एक स्टोर की मालिक हैं. 

3. ऐश्वर्या पिस्से

Aishwarya Pissay
Source: indianexpress

ऐश्वर्या पिस्से एक भारतीय सर्किट और ऑफ-रोड मोटरसाइकिल रेसर हैं. 21 साल की उम्र में उन्होंने महिलाओं के लिए टीवीएस वन-मेक रेस चैंपियनशिप से अपनी शुरुआत की थी. वो कई पुरस्कार जीत चुकी हैं. साल 2019 में ऐश्वर्या विश्व ख़िताब जीतने वाली पहली भारतीय मोटरस्पोर्ट्स एथलीट बनी थीं.

4. ईशा गुप्ता

महिला बाइकर्स में एक जाना-माना नाम ईशा गुप्ता का भी है. उन्होंने बाइकिंग को लेकर अपना पैशन फ़ॉलो करने का जब फ़ैसला किया, तब वो एक मल्डी नेशनल कंपनी में जॉब करती थीं. मगर उन्होंने उसे छोड़ दिया. साल 2014 में उन्होंने मुंबई-दिल्ली-कोलकाता-चेन्नई स्वर्णिम चतुर्भुज से होते हुए 40 दिनों में अपनी बाइक पर 7,000 किलोमीटर की दूरी तय की. वो इसी तरह की लंबी-लंबी बाइक राइड्स करती  हैं. दूसरी महिलाओं को भी वो इसके लिए प्रेरित करती हैं.

5. रौशनी शर्मा

रोशनी शर्मा को बचपन से ही बाइकिंग का शौक़ था. मगर उन्हें नॉर्मल तरीके से बाइकिंग का शौक़ नहीं था. वो तो लंबी-लंबी यात्राएं करना चाहती थीं. ऐसे में 26 साल की उम्र में उन्होंने कश्मीर से कन्याकुमारी तक बाइक चलाई थी. इस दौरान वो 11 राज्यों से होकर मुश्किल रास्तों और ख़तरनाक पर्वत श्रंखलाओं को पारकर अकेले पहुंची थीं. 

6. डॉ. सारिका मेहता

डॉ. सारिका मेहता पीएचडी कर चुकी हैं. उन्होंने 20 से ज़्यादा देशों की बाइक से यात्रा की है. साल 2015 में उन्होंने सूरत में महिला बाइकिंग क्लब 'बाइकिंग क्वींस' शुरू किया था. 

7. उर्वशी पटोले

उर्वशी पटोले ने 14 साल की उम्र में बाइक चलाना शुरू कर दिया था. भारत में महिलाओं के बाइकिंग ग्रुप 'Bikerani' की स्थापना का श्रेय उन्हें ही जाता है. साल 2011 में जब ये ग्रुप शुरू हुआ था तो महज़ 11 सदस्य थे. आज इस ग्रुप संग 2000 से ज़्यादा महिलाएं जुड़ चुकी हैं. (Happy Women's Day 2022)

8. अनम हाशिम

अनम हाशिम को भारत की पहली महिला स्टंट राइडर माना जाता है. अनम ने 16 साल की उम्र में बाइक स्टंट शुरू किया था. वो देश की एकलौती ऐसी महिला हैं, जिन्होंने साल 2017 में इंटरनेशनल स्टंट कॉम्पिटीशन जीता था. (Happy Women's Day 2022)