21वीं सदी में भले ही हमें 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ', 'वीमेन किसी से कम नहीं', 'नारी है तो संसार है' जैसे महिला सशक्तिकरण के नारों का सहारा लेना पड़ रहा हो, लेकिन आज हालात बदल चुके हैं. कल तक घर की चारदिवारी में रहने वाली नारी आज घर की दहलीज के बाहर भी अपने सपने साकार करने के काबिल हो गई है. शिक्षा, नई राह और बदलते दृष्टिकोण की वजह से नारी आज एक शक्ति के रुप में उभर कर सामने आई है. 

महिलाएं आज के बदलते परिवेश में जिस तरह पुरुष वर्ग के साथ कंधे से कंधा मिलाकर प्रगति की ओर अग्रसर हो रही हैं, वो समाज के लिए गर्व और सराहना की बात है. राजनीति से लेकर बिज़नेस, टेक्नोलॉजी, सेना, खेल, मीडिया और शिक्षा समेत हर क्षेत्र में महिलाओं ने जहां भी हाथ आज़माया उसे कामयाबी ही मिल रही है. महिलाएं आज हर जगह अपनी उपस्थिति दर्ज न करा रही हैं. 

इन तमाम कामयाबियों के बावजूद आज भी कई लोग ऐसे हैं जो महिलाओं पर 'औरत है ये क्या कर सकती है' का ताना मारने से अभी भी पीछे नहीं रहते. इसलिए ऐसे लोगों को इन 10 बातों से सीख लेनी चाहिए. 

1- महिलाएं आज घर और ऑफ़िस दोनों संभाल रही हैं. 

Source: fashiongonerogue

2- ऑटो चलाना हो या जहाज़ उड़ाना महिलाएं आज हर काम कर रही हैं. 

Source: ntdin

3- दुनिया के हर स्पोर्ट्स में महिलाओं की भागेदारी पुरुषों के बराबर ही है. 

Source: playo

4- बिज़नेस जगत में भी आज महिलाओं को ही बोलबाला है. 

Source: trak

5- महिलाओं को गाड़ी चलानी नहीं आती बोलने वालों! महिलाएं आज फ़ाइटर जेट उड़ा रही हैं 

Source: indiaeducation

6- आज कई देशों की राजनीति को महिलाएं लीड कर रही हैं. 

Source: entrepreneur

7- आज सरकार के ग़लत फ़ैसलों के ख़िलाफ़ भी महिलाएं खड़ी हो रही हैं. 

Source: wnycstudios

8- 9 महीने बच्चे को पेट में रखना और हर महीने महावारी का दर्द सिर्फ़ महिलाएं ही झेलती हैं. 

Source: pinterest

9- महिलाएं कमज़ोर नहीं हैं, वो मेट्रो की भीड़ में खड़े होकर टिकट ले सकती हैं. 

Source: curlytales

10- महिलाओं को कमज़ोर समझने वालों! वो जिम में मर्दों के बराबर वेट उठा लेती हैं.  

Source: thehindu

कृपया महिलाओं को कमज़ोर आंकना छोड़ दें, उनकी हौसला अफ़जाई करें तो बेहतर होगा.