मणिपुर में दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे पुल का काम चालू हो गया है. नॉर्थ ईस्ट फ़्रंटियर रेलवे ने बताया कि ये दुनिया का सबसे ऊंचा पुल है. इसका काम जल्दी और तेज़ी से निपटाने की क़वायद जारी है. ये 141 मीटर ऊंचा पुल, यूरोप में बने 139 मीटर ऊंचे Mala Rijeka Viaduct पुल को पीछे छोड़ देगा. इसके पिलर पहले ही बनाए जा चुके हैं.

Source: indiatvnews

इन राज्यों को जोड़ने की क़वायद जारी

इस पुल को बनाने के लिए अभी तक पूर्वोत्तर के सिर्फ़ तीन राज्य अरुणाचल प्रदेश, असम और त्रिपुरा ही रेलमार्ग से जुड़ सके हैं. अब बाकी के पूर्वोत्तर राज्यों मणिपुर, मिज़ोरम, मेघालय, सिक्किम और नागालैंड की राजधानियों को रेलमार्ग से जोड़ने की कोशिश जारी है.

सबसे ऊंचे पुल में होंगी 45 सुरंगें

Source: jagran

ये पुल मणिपुर में 111 किलोमीटर लंबे जिरीबाम-तुपुल-इंफ़ाल के बीच बिछाई जा रही नई ब्राड गेज लाइन के अंतर्गत बनाया जा रहा है. 703 मीटर लंबे इस पुल में कुल 45 सुरंगें होंगी. सबसे लंबी सुरंग 12 नम्बर होगी, जिसकी लंबाई 10.80 किलोमीटर होगी.

इस तकनीक का किया जा रहा है इस्तेमाल

Source: dnaindia

एनआरएफ़ के सीनियर पब्लिक रिलेशन ऑफ़िसर ओझा ने बताया, ‘हाइड्रॉलिक्स के माध्यम से पुल के खंभों को बनाया जा रहा है. इन खंभों को बनाने के लिए 'स्लिप फ़ार्म' तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है. वहीं स्टील गर्डर को वर्कशॉप में बनाया जा रहा है. इसके टुकड़ों में परियोजना स्थल तक पहुंचाने के बाद इन्हें कैंटिलीवर की सहायता से जोड़ा जा रहा है.

राष्ट्रीय परियोजना के अंतर्गत इस प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य में पिछले तीन सालों में तेज़ी लाई गई है. आपको बता दें कि इस प्रोजेक्ट को 2008 में 13,809 करोड़ की लागत से शुरू किया गया था.

Source: thebetterindia