फ़िनलैंड की एक कंपनी काफ़ी बड़े पैमाने पर कीड़ों-मकोड़ों का इस्तेमाल कर ब्रेड का उत्पादन कर रही हैं. कुछ लोगों को ये सुन कर घिन ज़रूर आ सकती हैं. बताया जा रहा है कि ख़ास तरह की ब्रेड सेहत के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद है. फ़ैटी एसिड, कैल्शियम, आयरन और विटामिन बी-12 के लिए प्रत्येक Loaf में 70 सूखे और पिसे हुए झींगुरों का इस्तेमाल किया गया है. हालांकि, खाते वक़्त इस बात का पता भी नहीं चलेगा कि इसमें पीसे हुए कीड़ों का पाउडर मिलाया गया है.

फ़ैज़र ग्रुप फ़िनलैंड की सबसे बड़ी खाद्य कंपनियों में से एक है. हर ब्रेड में करीब 3 प्रतिशत कीड़े मिले हुए हैं. बेकरी के हेड Juhani Sibakov कहते हैं, 'कीड़ों के प्रति हमारा साकारात्मक रुख़ है. इसे स्वादिष्ट और पौष्टिक बनाने के लिए हमने कुरकुरे आटे का इस्तेमाल किया.'

आगे वो बताते हैं कि ये पर्यावरण के लिए भी काफ़ी सहायक है, साथ ही कम पैसों में लोगों को आसानी से अच्छी चीज़ खिलाई जा सकती है. Sibakov का मानना है कि मानव जाति को पोषण के लिए नए और टिकाऊ स्त्रोतों की आवश्यकता है. बीते 1 नवबंर को फ़िनिश क़ानून बदला गया, ताकि भोजन के रूप में कीड़ों-मकौड़ों की ब्रिकी की जा सके और शुक्रवार से इसकी ब्रिकी शुरू हो जाएगी.

हालांकि, कंपनी ने ये भी साफ़ किया कि देशभर में इसे बढ़ावा देने के लिए उनके पास पर्याप्त Cricket Flour उपलब्ध नहीं है. हमारा अगला लक्ष्य फ़िनलैंड की 47 ब्रेकरी में इसकी ब्रिक्री शुरू करना है.

बता दें कि स्विट्ज़रलैंड की सुपरमार्केट ने सितंबर में कीड़ों से बने Balls और बर्गर बेचना शुरू किया था. वहीं UN’s Food and Agricultural Organisation भी कीड़ों से बने मानव भोजन को प्रोत्साहन दे रहा है. बेल्जियम, ब्रिटेन, डेनमार्क और नीदरलैंड की सुपरमार्केट में सबसे ज़्यादा कीड़े पाए जाते हैं.

ख़ैर शाकाहारी लोगों के लिए कीड़ों से बनी ब्रेड का सेवन नामुकिन सा है, लेकिन अगर आपको नॉनवेज पसंद है, तो आप इसका आनंद ले सकते हैं.

Source: metro