बीते रविवार को बीजेपी के हिंदुत्व कट्टरपंथी शुभंकर योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. उन्होंने शपथ ग्रहण के दौरान वादा किया कि उनकी सरकार राज्य के सभी वर्गों के लिए बिना किसी भेदभाव के काम करेगी.

Source: PTI

44 वर्षीय योगी आदित्यनाथ ने देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभाल लिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी 'सरकार सबका साथ, सबका विकास' के एजेंडा पर काम करेगी. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पांच बार सांसद रह चुके योगी आदित्यनाथ, यूपी में बीजेपी के चौथे मुख्यमंत्री हैं.

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में दो डिप्टी सीएम, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 13 राज्य मंत्रियों सहित कुल 47 मंत्रियों ने शपथ ली. वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली. 90 मिनट तक चले इस शपथ ग्रहण समारोह की अगुवाई राज्यपाल राम नाइक ने की और सभी मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

Source: PTI

बीजेपी की ओर से ये सबके लिए चौंकाने वाली बात थी कि योगी मंत्रिमंडल में क्रिकेटर से राजनेता बने मोहसिन रज़ा को भी एक ख़ास जगह मिली. रज़ा इस मंत्रिमंडल का एकमात्र मुस्लिम चेहरा हैं. गौरतलब है कि बीजेपी ने विधानसभा चुनाव के दौरान 403 सीटों में से एक भी सीट पर मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया था.

शपथ ग्रहण समारोह समाप्त होने के 4 घंटे बाद योगी ने मीडिया के साथ मुख्यमंत्री के रूप में अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस पीसी में उन्होंने कहा कि जल्द ही उत्तर प्रदेश में नई सरकार के काम दिखाई देंगे.

Source: PTI

इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी द्वारा चुनाव से पहले किये गए सभी वादों को उनकी टीम पूरा करेगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'सबका साथ सबका विकास' के वादे पर काम करेगी. सीएम योगी ने साथ ही यह भी विश्वास दिलाया कि राज्य की जनता की उम्मीदों पर सरकार पूरी तरह से खरा उतरेगी. बीजेपी सरकार राज्य के सभी वर्गों के साथ एक समान पेश आएगी और किसी के साथ किसी भी तरह का भेदभाव नहीं किया जाएगा. इसके साथ ही योगी ने बीजेपी को बड़ा जनादेश देने के लिए प्रदेश के लोगों को धन्यवाद भी दिया. उन्होंने अपने मंत्री मंडल को ये निर्देश भी दिए कि कोई भी मंत्री कुछ भी ऐसा नहीं बोलेगा या करेगा, जिससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचे.

योगी ने यह भी कहा कि पिछले 15 सालों के दौरान राज्य की सरकारों ने प्रदेश के लोगों के लिए कुछ नहीं किया है, इसी वजह से राज्य में विकास नहीं दिखाई देता है. मगर बीजेपी सरकार राज्य में विकास लाने के साथ ही, यहां की बदहाली को दूर करने के लिए और कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए सभी ज़रूरी कदम उठाएगी.

पीएम नरेन्द्र मोदी भी इस समरोह में पहुंचे और शपथ ग्रहण के दौरान मोदी औऱ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्य़क्ष अमित शाह मंच पर मौजूद रहे. मोदी ने कहा, 'हमारा मुख्य उद्देश्य और लक्ष्य है विकास, जब यूपी का विकास होगा, तो भारत का विकास होगा. हम यूपी के युवाओं की सेवा करना चाहते हैं और उनके लिए अवसरों का निर्माण करना चाहते हैं.'

Source: PTI

इसके अलावा पीएम मोदी ने आदित्यनाथ को शुभकानाएं दी और कहा, 'मुझे इस बात का पूरा भरोसा है कि आदित्यनाथ की अगुवाई वाली ये नई टीम यूपी को उत्तम प्रदेश बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी. इसमें रिकार्ड विकास होगा.'

Source: PTI

आपको बता दें कि काशीराम स्मृति उपवन में आयोजित इस शपथ ग्रहण समारोह में हज़ारो लोगों सहित मोदी, अमित शाह, पार्टी कुलपति, एल.के. आडवानी और पार्टी के कई वरिष्ठ सदस्यों ने भी शिरकत की. वहीं पूर्व सीएम अखिलेश यादव और उनके पिता व समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव भी इस भव्य समारोह में मौजूद रहे. हालांकि, बीएसपी सुप्रीमो मायावती इस समारोह में शरीक नहीं हुईं.

वहीं जब योगी आदित्यनाथ को यूपी का सीएम बनाये जाने की घोषणा की गई, तो लोगों ने ट्विटर पर कुछ इस तरह अपनी प्रतिक्रिया दी.

Source: scoopwhoop