नवरात्री के पावन दिनों की शुरूआत हो चुकी है. नवरात्री के पहले दिन से ही हमें विजयदशमी का इंतजार रहता है, हो भी क्यों न आखिर उस दिन बुराई पर अच्छाई की जीत, जो हुई थी. वैसे एक बात कहूं हर बार आप अपने शहर का दशहरा देखते हैं, क्यों न इस बार कुछ अलग किया जाये. घबराइये नहीं, हम आपको कुछ एडवेंचर करने की सलाह नहीं देंगे.

कहना ये है कि विजयदशमी पर वीकेंड पर पड़ रहा है, ऐसे में आपके पास शुक्रवार से लेकर रविवार तक तीन दिन की छुट्टी होगी और आप किसी दूसरी जगह का दशहरा देखने जा सकते हैं. इस बहाने कुछ नया भी हो जाएगा.

1. कोलकाता

Source : indiatvnews

कोलकाता में ये 9 दिन बेहद भव्य तरीके से माता रानी की पूजा की जाती है, लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि यहां दशहरा भी काफ़ी धूमधाम से मनाया जाता है. अगर अब तक आपने कोलकाता का दशहरा नहीं देखा, तो इस बार आप यहां ज़रूर जायें.

2. मैसूर

Source : trawell

दशहरे के वक़्त मैसूर में एक अलग ही रौनक होती है. 10 दिनों तक सांस्कृतिक कार्यक्रम से लेकर फ़ूड मेला तक लगता है. इसके अलावा इस दौरान मैसूर महल की प्रदर्शनी भी होती है. कुछ बढ़िया और अच्छा देखने का मन है, तो मैसूर से अच्छा ऑप्शन नहीं मिलेगा.

3. अहमदाबाद

Source : Indiamarks

यूं तो गुजरात का नाम गरबा से जोड़ा जाता है, क्योंकि नौ दिनों तक लोग गरबा के जश्न में डूब रहते हैं. वैसे कभी अहमबाद का दशहरा देखा है? अगर नहीं देखा, तो अब देख लो अच्छा लगेगा.

4. कुल्लू

Source : livemint

कुल्लू में दशहरे का पारंपरिक और ऐतिहासिक महत्व है. शायद आपको पता हो कि जिस दिन देशभर में विजयदशमी ख़त्म हो जाती है, तब कुल्लू में दशहरे के उत्सव का अारंभ होता है.

5. बस्तर

Source : trawell

छत्तसीगढ़ के बस्तर में 75 दिनों तक विजयदशमी पर्व को सेलिब्रेट किया जाता है. इसमें रथ यात्रा से लेकर कलाबाज़ी तक, आपको तमाम आनोखी चीज़ें देखने को मिलती हैं. दशहरे पर बस्तर जाना आपको एक नया और ख़ास अनुभव देगा.

6. वाराणसी

Source : india

वाराणसी को धर्मनगरी कहा जाता है. अब आप सोच सकते हैं कि धर्मनगरी में इस पर्व को किस तरह से मनाया जाता होगा.

7. अयोध्या

Source : thewire

प्रभु राम का जन्म इस नगरी में हुआ था. इसीलिए यहां भी विजयदशमी का पर्व बेहद अलग अंदाज़ में मनाया जाता है.

8. कोटा

Source : patrika

राजस्थान के कोटा में इस पर्व का आयोजन काफ़ी बड़े लेवल पर किया जाता है. कोटा का दशहरा देखने के लिए देसी सैलानियों के साथ-साथ विदेशी लोग भी आते हैं. अब आप समझ ही गये होंगे कि यहां पर दशहरा कितने भव्य तरीके से मनाया जाता है.

तो तैयार है न आप इस बार इन जगहों का दशहरा देखने के लिए!