'भगवान न करे कभी किसी को रोना पड़े'

दुनिया ऐसा कहती है, लेकिन हम कह रहे हैं कि रोना ज़रूरी है. अकसर हम दूसरों से उनकी ख़ुशियों की सीक्रेट पूछते हैं, तो जान लो हफ़्ते में एक बार रोने से आपके अंदर का सारा तनाव ख़त्म हो जाता है. और आप पहले की अपेक्षा अधिक ख़ुश रहते हैं.

Source : cdn

जापान के रहने वाले 43 वर्षीय Hidefumi Yoshida नामक 'Tear Teacher' का कहना कि सोने और हंसने से ज़्यादा रोने से स्ट्रेस कम होता है. यही नहीं, वो लोगों को इससे अवगत कराने के लिये जापान में जगह-जगह वर्कशॉप ऑर्गेनाइज़ कर, लेक्चर भी लेते हैं. Yoshida का कहना है कि दुःख भरे गानें, इमोशनल मूवीज़ और रुला देने वाले जोक्स पढ़ने से Parasympathetic Nerve एक्टिव हो जाती है, जिससे हमारे दिमाग़ पर अच्छा प्रभाव पड़ता है.

Source : khabarindiatv

'Tear Teacher' का कहना कि सप्ताह में एक बार रोने से आप तनाव मुक्त रहते हैं. 2014 में Yoshida ने टोक्यो की Toho University के प्रोफ़ेसर Hideho Arita के साथ मिल कर, रोने के फ़ायदे को लेकर एक सीरीज़ ज़ारी की थी. इसके बाद से ही वो स्कूल और कंपनी में लोगों को इसका पाठ पढ़ाने लगे. इसके साथ ही उन्होंने सितबंर में Daito City के Osaka High School में भी एक लेक्चर होस्ट किया था, जिससे कि वहां मौजूद 79 Teenage स्टूेडेंट्स फ़िल्म देख कर रो दें.

Source : france24

हांलाकि, Yoshida ऐसे पहले इंसान नहीं है, जो ये काम कर रहे हैं. इससे पहले 1981 में Dr. William Frey द्वारा की गई Tear Expert स्टडी में भी रोने को हेल्थ के लिये अच्छा बताया गया था.

अब समझ गये न, रोने के भी अपने कई फ़ायदे हैं.

Source : TOI

Feature Image Source : Mislipozitivno