हम अकसर कहते हैं, 'नर्क हो गई है ज़िन्दगी',

'मेरी ज़िन्दगी जैसी ज़िन्दगी भगवान किसी को ना दे!',

कभी-कभी तो हमारी ज़ुबान से ये भी निकल पड़ता है, 'इससे अच्छा तो हम पैदा ही ना हुए होते!' ये सब हम तब कहते हैं, जब हमारी सांसें चल रही होती हैं. आराम से ज़िन्दगी जीते हुए ज़िन्दगी को ही बुरा-भला कहना हम इंसानों की फ़ितरत है.

आप शायद अपनी नौकरी से नाख़ुश होकर, अपने प्यार से लड़कर, देश और दुनिया की समस्याओं से भावुक होकर या फिर ऑनलाइन देखी किसी वीडियो पर ही ख़फ़ा होकर ज़िन्दगी से खफ़ा हो जाते हैं, लेकिन क्या कभी सोचा है कि अगर ज़िन्दगी हक़ीक़त में ख़फ़ा हो गई तो क्या होगा? इसका जवाब सभी को पता होगा.

'अगर कोई व्यक्ति आपको ग़मज़दा कर रहा है, तो इस पूरी Situation को बदलना आपके हाथों में है. बदलाव लाने के लिए हिम्मत करिये. आपको पता नहीं आपकी ज़िन्दगी के कैलेंडर में कितने दिन बाक़ी हैं.'

ये शब्द हैं ऑस्ट्रेलिया की Holly Butcher के. Holly अब इस दुनिया में नहीं हैं, 27 साल की उम्र में ही ना चाहते हुए उन्हें ज़िन्दगी को अलविदा कहना पड़ा.

Holly को Ewing's Sarcom(एक तरह का कैंसर) था. इस कैंसर से इंसान के बचने के आसार नहीं रहते, Holly को जब अपनी मौत की बात पता चली तो Holly ने दुनियावालों के लिए एक Open Letter लिखने का निर्णय लिया. अपने आख़िरी Message को Holly के दोस्तों ने फ़ेसबुक पर पोस्ट किया. ख़त लिखने के कुछ ही घंटों बाद Holly ने दुनिया को अलविदा कह दिया.

हमने Holly के ख़त को वैसा ही प्रस्तुत करने का प्रयास किया है-

Holly की तरफ़ से ज़रा सी ज़िन्दगी जीने की नसीहत

बहुत अजीब है, 26 साल की उम्र में अपनी मौत को Accept करना. ये उन कुछ चीज़ों में से है, जिसे आप हमेशा नज़रअंदाज़ करते हैं. दिन बीतते हैं और आपको ऐसा लगता है कि दिन तो आते ही रहेंगे, तभी वो होता है जिसके बारे में आपने कभी नहीं सोचा था. मैंने ख़ुद को हमेशा बुढ़े होते Imagine किया था, मैंने अपने प्यार के साथ एक अच्छी ज़िन्दगी जीने की प्लैनिंग भी कर ली थी.

ज़िन्दगी की यही तो हक़ीक़त है, कि वो यूं ही बिख़र जाती है. ज़िन्दगी का कोई ठिकाना नहीं, हर दिन क़ीमती है.

मैं 27 की हूं, मुझे नहीं जाना. मुझे मेरी ज़िन्दगी से बेहद प्यार है. मैं ख़ुश हूं, इसका Credit मेरे प्रियजनों को जाता है. लेकिन मौत पर मेरा Control नहीं है.

मैं ये मरने से पहले का नोट इसलिये नहीं लिख रही क्योंकि मुझे मौत का डर है. मैं इस बारे में बात करना चाहती हूं क्योंकि हम ये मान लेते हैं कि मौत कभी आएगी ही नहीं. लेकिन ये सच नहीं है. मैं चाहती हूं कि लोग छोटी, व्यर्थ चीज़ों से परेशान होना छोड़ दें और हमेशा ये ध्यान रखें कि एक दिन सबकी ज़िन्दगी में वो पल ज़रूर आयेगा. वो करिये जो आपको अच्छा लगे.

पिछले कुछ महीनों में मुझे मेरी ज़िन्दगी के बारे में सोचने का काफ़ी वक़्त मिला, इसलिये मैंने इस नोट मैं बहुत कुछ लिख डाला.

वो वक़्त जब आप बेकार की चीज़ों के बारे में शिकायत करते रहते हैं, एक बार एक ऐसे इंसान के बारे में सोचिये, जो सच में बहुत बड़ी समस्या में हो. अपनी छोटी-छोटी समस्याओं से ऊपर उठिये. अपनी Problem पर ध्यान देना अच्छा है, लेकिन उसे अपने सिर पर ढोते रहना और दूसरों को ज़िन्दगी पर भी नकारात्मक प्रभाव डालना ग़लत है.

परेशानी से निकलने के बाद एक लंबी सांस लें, उस साफ़ हवा को अपने अंदर लें, आकाश की तरफ़ देखें, पेड़ों की हरियाली को देखें, सब कितना सुंदर है. सोचिये आप कितने Lucky हैं कि आपके पास सांसें हैं.

आज आप ट्रैफ़िक में फंसे होंगे, और शायद बच्चों के कारण पूरी रात जागते रहे होंगे या फिर आपके Hairdresser ने आपके बाल ज़्यादा छोटे कर दिये होंगे. आपका पेट निकल रहा है.

ये सब बकवास है, भूल जाइये. मैं जानती हूं जब आपके जाने का वक़्त आयेगा, तब आप इन सब पर नहीं सोचेंगे. ज़िन्दगी को अगर पूरी तरह से देखा जाये, तो ये छोटी-छोटी बातें और छोटी लगती हैं. मैं अपनी आंखों के सामने अपने शरीर को ख़त्म होते देख रही हूं और मैं कुछ नहीं कर सकती. मेरी बस इतनी सी ख़्वाहिश है कि बस मेरा एक और जन्मदिन आये या सिर्फ़ एक और क्रिसमस मैं अपने परिवार के साथ मना सकूं या फिर सिर्फ़ एक दिन अपने प्यार के साथ बिता सकूं.

मैं अकसर सुनती हूं, लोगों को कहते हुए कि Exercise करना कितना मुश्किल है, शुक्र मनाइये आप Exercise कर सकते हैं. अपनी Health को Appreciate करें, ख़ुद से प्यार करें.

याद रखिये आप Perfect हैं. मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक ख़ुशी ढूंढिये. ऐसा करने से शायद आप समझ जायें कि ये सोशल मीडिया कितनी बेकार चीज़ है. इसी पल उस सोशल मीडिया अकाउंट को डिलीट करिये जिससे आप असहज महसूस करते हैं.

हर उस दिन के लिए शुक्रिया अदा करिये, जब आपको दर्द ना हुआ हो.

दुनियावालों, शिकायतें कम करो! एक-दूसरे की मदद करो.

जितना हो सके लोगों को दो, पाने की इच्छा कम करो. ये सच है कि दूसरों के लिए कुछ करके बहुत अच्छा महसूस होता है. काश मैं ऐसा कुछ और दिनों के लिए कर पाती. जब से मैं बीमार पड़ी हूं मैं ऐसे बहुत से लोगों से मिली हूं, जो बिना किसी इच्छा के सिर्फ़ दूसरों को ख़ुश करने में विश्वास करते हैं. मैं ये कभी नहीं भुलूंगी.

मौत के नज़दीक पहुंचकर पैसे ख़र्च करना काफ़ी अजीब है. इस वक़्त दिमाग़ में ये विचार आते हैं कि ज़िन्दगी में कितनी ज़्यादा फ़िज़ूलख़र्ची करते हैं.

ख़ुद के लिए एक नई ड्रेस, कोई ब्यूटी प्रोडक्ट या कोई Jewelry ख़रीदने से अच्छा है अपने दोस्त के लिए कुछ अच्छा सा खरीदें. उन्हें खाने पर बाहर ले जायें, अगर आप खाना बनाना जानते हैं, तो ये और भी अच्छा है. उन्हें सिर्फ़ एक पौधा या सिर्फ़ एक मोमबत्ती दें और कहें कि आप उनसे प्यार करते हैं.

दूसरों के वक़्त की कद्र करें. किसी को भी सिर्फ़ इसिलये इंतज़ार ना करवायें कि आप लेट-लतीफ़ हैं, अपनी आदतें बदलें.

नये Experiences हेतु अपने पैसे ख़र्च करें. या फिर बेकार की चीज़ों में पैसे बर्बाद ना करें.

जिस Beach Trips के प्लैन को आप अकसर कैंसल करते आये हैं, उन्हें Execute कर लें. पानी में अपने पांव डालें और गिली रेत में अपनी उंगलियां. प्रकृति की गोद में वक़्त गुज़ारें.

मोबाईल में फ़ोटो उतारने के बजाये हर लम्हे को जियें. ज़िन्दगी एक स्क्रीन द्वारा जीने के लिए नहीं है.

महिलाओं के लिए एक सवाल, जिन Night Outs के लिए आप रोज़ाना घंटों तक आईने के सामने सजती-संवरती है क्या वो Night Out इतना वक़्त ख़र्च करने लायक है?

किसी दिन सुबह-सुबह उठ कर पंछियों के गीतों के बीच उगते उस बेहद ख़ुबसूरत सूरज को देखिये.

Music सुनिये, अच्छा Music. Music बहुत अच्छी Therapy है. पुराने गाने बेस्ट हैं.

अपने दोस्तों से बात करें, क्या वो ठीक हैं? अगर आपको मन हो तो घूमने जाएं, वरना ना जाएं.

जीने के लिए काम करें, काम करने के लिए ना जिएं. वो सब करिये जिससे आपको ख़ुशी मिलती है.

एक आख़िरी बात, अगर आप मानवता के लिए कुछ अच्छा कर सकें, तो ज़रूर करें जैसे कि रक्तदान. इससे आपको अच्छा लगेगा और आप किसी की ज़िन्दगी भी बचायेंगे. रक्तदान से मुझे जीने के लिए 1 और साल मिला.

दोबारा मिलने तक...

Holly

Holly के इस पोस्ट को दुनियाभर के लोगों ने शेयर किया है. Holly ने ज़िन्दगी से जुड़ी बहुत ही साधारण बातें कहीं. ज़िन्दगी को कोसना छोड़िये, व्यर्थ की बातों पर दिल लगाना छोड़िये. जितना भी वक़्त है आपके पास, उसे खुलकर जियें.

Source- Facebook