आपके अपने ज़ाकिर ख़ान अपने नए स्पेशल शो को साथ प्राइम वीडियो पर वापसी कर चुके हैं. ज़किर के इस स्पेशल शो में सख़्त लोंडा बनने से पहले कई बार पिघलने की किस्से हैं.

शुरुआत होती है सोशल मीडिय और पिता के पंच से...

लड़कों को ज़ाकिर का ये शो ख़ास तौर पर पसंद आएगा, ज़ाकिर की बातें उसे अपनी आपबीती लगेगी.

कैसे स्कूल में मासूमियत एक क्लास से दूसरे क्लास में जाते ही ख़त्म होती चली जाती है, आपको भी तो याद होगा!

जब बदमाशी सिर्फ़ बदमाशी करने के लिए की जाती थी, उसके पीछे कोई वजह नहीं होती थी.

फिर अचानक से लड़कियों के साथ होने वाली बात-चीत. इसे ज़िंदगी की नई शुरुआत समझिए.

फ्रेंडज़ोन होने का दर्द किसने नहीं सहा, स्कूल में लड़की की वजह से किसने लड़ाई झगड़े नहीं किये, अगर आपके साथ ऐसा नहीं हुआ तो ये मानने वाली बात नहीं है.

फिर आखिर में 'बापू अपना है स्टड लौंडा' वाला पंच तो होगा ही... पूरी वीडियो यहां देख सकते हैं- कक्षा ग्यारहवीं