26 जनवरी 1950, इस दिन का महत्व भारत का बच्चा-बच्चा जानता है. ये वो  ऐतिहासिक दिन था, जब भारत को संवेधानिक आज़ादी मिली और भारत बना एक गणतंत्र. देश का संविधान बनाने का श्रेय किसी एक को नहीं बल्कि, कई लोगों को जाता है. पहली बार जब देश का संविधान पास हुआ और संविधान की पहली बैठक हुई तो उस वक़्त का नज़ारा कैसा रहा होगा, वे कौन थे, जिन्होंने बड़ी भूमिकाएं निभाई थीं, इसकी कुछ झलकियां आपको मिलेंगी भारत की पहली Constituent Assembly की Rare (दुर्लभ) तस्वीरों में. 

1. भारत के प्रथम राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद अंतरिम सरकार के मेंबर्स के साथ 

2. संविधान की पहली बैठक में 205 लोगों ने हिसा लिया था, जिसमें 9 महिलाएं थीं

3. 11 दिसंबर, 1946 - डॉ. भीमराव आंबेडकर, संविधान सभा की कार्यवाही के दौरान प्रतिनिधि के तौर पर

4. डॉ. सच्चिदानंद सिन्हा, संविधान सभा के पहले नामित अध्यक्ष बने

5. 24 जनवरी, 1950- भारत के संविधान पर साइन करने के बाद सभा को सम्बोधित करते हुए सरदार पटेल

6. 24 जनवरी, 1950- भारत के संविधान पर हस्ताक्षर करते डॉ. राजेंद्र प्रसाद  

7. भारत के संविधान पर हस्ताक्षर पर साइन करने के बाद जवाहरलाल नेहरू से हाथ मिलाते राजेंद्र प्रसाद 

8. भारतीय संविधान पर हस्ताक्षर करते पंडित जवाहरलाल नेहरू 

9. भारत के संविधान पर हस्ताक्षर करते पट्टाभि सीतारमैय्या

10. भारतीय संविधान पर हस्ताक्षर करते बाबू जगजीवन राम (बाएं से चौथे), सरदार पटेल (बाएं  से पांचवे), राजकुमारी अमृत कौर (दायें से दूसरी)

11. डॉ. राजेंद्र प्रसाद, सभा के स्टाफ मेंबर्स के साथ