कला की ये ख़ूबसूरती है कि वो किसी दायरे में नहीं बंध सकती. न समझ सकने वालों को भी ये अपनी ओर खींच कर कुछ न कुछ समझा देती है. गहरे और गंभीर मुद्दे को भी बोझिल बनाए बिना 'कला' देखने वाले के मस्तिष्क के ऊपर वज़नदारी से चोट करने में सक्षम होती है.

ऐसा ही कुछ किया है स्विडन के Andreas Häggkvist ने, अपनी कलात्मकता का इस्तेमाल करके उन्होंने एक ज़रूरी आवाज़ को उठाने की कोशिश की है. उन्होंने जो तस्वीरें तैयार की हैं वो बहुत देर तक गूंजेंगी.

अपनी इस कलाकृती के बारे Andreas Häggkvist का कहना है, 'चित्र हमारे ज़हन में शब्दों से ज़्यादा देर तक रुकते हैं. कला कि इस शक्ति का इस्तेमाल कर, कलाकार के तौर पर मौक़ा है एक महत्पूर्ण बदलाव लाने का.'

ये उन जीवों की तस्वीरें हैं जो वर्तमान समय में विलुप्ती की कगार पर हैं, जब आप इन्हें देख कर दंग हो रहे हों तब ज़रूर इस विषय पर चिंता कीजिएगा कि जब ये जीव विलुप्त हो जाएंगे तो क्या उसके साथ ही प्रकृति द्वारा रचा गया एक सुनहरा इतिहास भी मिट जाएगा?

1.

2.

3.

4.

5.

6.

7.

8.

9.

10.

11.

12.

13.

14.

15.

16.

क्या एक-एक करके प्रकृती अपनी सभी संतानों को खोती जाएगी?

Source: boredpanda