अगर हज़ारों साल पहले मरे हुए लोगों की हड्डियों और खोपड़ियों को आप एक साथ देखते हैं, तो एक सवाल तो ज़हन में आएगा ही कि ये किस तरह से यहां आईं. केंट के प्राचीन चर्च में इन हड्डियों और खोपड़ियों को सिर्फ़ लोगों के देखने के लिए रखा गया है, ये दृश्य इंडियाना जोंस की तरह लगता है. देखा जाए तो इन हड्डियों और खोपड़ियों का विशाल संग्रह काल्पनिक दुनिया से भी काफ़ी दूर है.

फ़ोटोग्राफ़र Darragh Field ने इस जगह का दौरा किया और वहां की कुछ तस्वीरों को कैमरे में कैद किया. उन्होंने बताया की UK का ये सबसे अच्छा और प्राचीन संग्रह है. इसके बारे में जानना उनके लिए बेहद ज़रूरी था. जब उन्होंने स्थानीय लोगों से इस जगह के बारे में पुछा तो लोगों ने बताया की अभी तक इस जगह के बारे में कोई प्रमाण नही मिले हैं.

हालांकि ये ज़रूर बताया गया कि Hastings की लड़ाई में मारे गये लोगो के अवशेषों को ही यहां पर रखा गया है. वो लोग 13वीं और 15वीं शताब्दी तक यहां के स्थानीय निवासी थे.

हड्डियों और खोपड़ियों के बारे में आकलन करना असंभव है क्योंकी यहां एक दो नहीं हजारों की संख्या में इन्हें अलमारियों में सजा कर रखा गया है. फ़ोटोग्राफ़र ने ये भी बताया कि इस तरह का पल उनके लिए काफ़ी अच्छा और शांतिपूर्ण था. मानव खोपड़ियों की दीवार को देखकर एक नए तरह का अनुभव हांसिल करना उनके लिए बहुत बड़ी बात थी.

वहां के लोगों ने तरह-तरह के तर्क भी दिए हैं, लोग बताते हैं की 11वीं सदी (1066) में Hastings की लड़ाई में जो पुरुष मारे गये थे, उन्हीं की हड्डियों और खोपड़ियों को चर्च में सजा कर रखा है. 1787 के चित्रण में कहा गया है कि युद्ध में मारे गये लोग Denmark के समुद्री डाकू थे.

1.8 मीटर ऊंचा हड्डियों का ढेर है.

एक अन्य तर्क में यह भी कहा गया था कि युद्ध में Anglo Saxons भी मारे गये थे, वो लोग ब्लैक डेथ के शिकार थे.

इन प्राचीन हड्डियों और खोपड़ियों की तस्वीरों को June 2017 में ही खींचा गया है.

कैमरे में कैद की गयीं लगभग 2000 हड्डियों की तस्वीर. लगभग 1000 खोपड़ियों को अलमारियों में सजा कर रखा गया है.

कई हड्डियां टूटी-फ़ूटी है तो कई दीवारों पर टंगी हुई हैं.

2009 में Osteologists के एक समूह ने रिसर्च में पाया कि ये लोग Kent के ही रहने वाले थे.

हड्डियों और खोपड़ियों का ब्रिटेन में सबसे बड़ा संग्रह.

Source: Daily Mail