भगवान ने इंसान को बनाया और हर इंसान को एक से अंग दिए हैं. मगर हर इंसान की शक्ल-सूरत, कद-काठी, रंग दूसरे से अलग होता है. कोई ज़्यादा सुन्दर होता है, तो कोई कम. किसी की लम्बाई अधिक होती है, तो किसी की कम. लेकिन फिर भी इंसानों में बहुत सी समानताएं होती है. आज हम आपको इंसानों के शरीर की कुछ ऐसी दुर्लभ विशेषताएं बताने जा रहे हैं, जो पूरी दुनिया में केवल कुछ प्रतिशत लोगों में ही होती हैं.

1. कुछ लोगों में होती हैं अविश्वनीय रूप से मज़बूत हड्डियां

Gene LRP5 (हड्डियों के खनिज के लिए जिम्मेदार) का अध्ययन करते हुए, एक वैज्ञानिकों ने म्यूटेशन (Mutation) की खोज की है, जिससे हड्डियां कमज़ोर होने के साथ-साथ उसमें कई तरह के रोग भी हो सकते हैं. इसके विपरीत एक LRP5 Mutation होता है, जिसकी वजह से इंसान की हड्डियां इतनी मजबूत हो जाती हैं कि उन्हें तोड़ना लगभग असंभव होता है. साथ ही इससे व्यक्ति की त्वचा पर बढ़ती उम्र का प्रभाव कम होता है. सुनने में ये बहुत ही आकर्षक लग रहा है, लेकिन इसकी कुछ नुकसान भी होते हैं, जैसे जब एक बुजुर्ग मरीज को बोन ट्रांसप्लांट की ज़रूरत होती है, तो बेहद मज़बूत हड्डियों की वजह से डॉक्टर्स को काफ़ी मुश्किल भी होती है.

2. Golden Blood

शाब्दिक अर्थों में 'Golden Blood' का मतलब स्वर्ण या सोना नहीं है, लेकिन इसकी एक अनूठी विशेषता है कि इसमें कोई भी एंटीजेंस नहीं होते हैं. इस लक्षण की खोज 1961 में की गयी थी और वर्तमान में इस Rh-null Blood वाले लोगों की संख्या 40 है. इनमें से 9 लोग ऐसे हैं, जो वैल्युएबल ब्लड डोनर्स हैं क्योंकि उनका खून किसी भी ब्लड ग्रुप के व्यक्ति के लिए उपयुक्त होता है.

3. हथेली पर मौजूद लम्बी मांसपेशी

यह मांसपेशी हमारे पूर्वजों की 'विरासत' है, जो पेड़ों पर चढ़ाई करते थे. यह मांसपेशी आपके पास है कि नहीं इसकी जांच करने के लिए अपने हाथों को एक सपाट सतह पर रखें, फिर अपनी छोटी उंगली और अंगूठे को एक-दूसरे से स्पर्श करें और उन्हें थोड़ा ऊपर उठाएं. अगर आपको अपनी कलाई पर अस्थि-बंधन (Ligament) दिखता है, तो आप इस लम्बी मांसपेशी के स्वामी है. अगर नहीं दिखता है, तो कोई चिंता की बात नहीं है क्योंकि आज के वक़्त में इसकी कोई उपयोगिता नहीं है.

4. कुछ लोगों में होती हैं Double Lash Line होती हैं.

यह एक दुर्लभ आनुवंशिक विकार है जिसे 'Distichiasis' कहा जाता है. हॉलीवुड स्टार एलिजाबेथ टेलर के भी 'दो पलकें यानी कि Double Eyelashes थी. आमतौर पर Distichiasis होने से व्यक्ति को किसी भी तरह की असुविधा नहीं होती है. फिर भी कुछ मामलों में, Eyelashes की दूसरी पंक्ति आंख के श्लेष्म झिल्ली (Mucous Membrane) के बहुत करीब हो सकती है, जिससे जलन होती है.

5. कुछ लोगों के कान के पास एक छोटा छेद होता है.

अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग जब पैदा होते हैं, तो उनके कान के पास जन्म से ही एक छेद होता है, जिसे ऑरिक्युलर फास्ट्यूला (Auricular Fistula) कहा जाता है. हालांकि, लगभग 5 प्रतिशत ही लोग ऐसे हैं, जिनके कान के पास एक छोटा सा छेद पाया जाता है. यह 'छेद' अक्सर आनुवंशिक रूप से विरासत में मिलाता है और ये एक या दोनों कानों पर मौजूद हो सकता है. वैसे तो यह खतरनाक नहीं है, पर इसे सर्जरी द्वारा हटाया जा सकता है.

6. कुछ लोगों में अतिरिक्त पसलियां (Additional Ribs) होती हैं.

अतिरिक्त पसलियां (Additional Ribs) अक्सर महिलाओं में पायीं जाती हैं. ऐसी पसलियों को गर्भाशय ग्रीवा (Cervical) भी कहते हैं, क्योंकि ये ग्रीवा रीढ़ क्षेत्र में स्थित होती हैं. इस तरह के ज़्यादातर मामलों में ये पसलियां किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य को प्रभावित नहीं करती हैं. लेकिन कभी-कभी इनका बड़ा आकार व्यक्ति के शरीर में असुविधा पैदा करता है.

7. कुछ लोगों में 'अदृश्य' रंगों को समझने की योग्यता होती है.

ये एक अन्य विशेषता है, जो सामान्यतः महिलाओं में अधिक पायी जाती है, जिसे Tetrachromacy कहते हैं. इस विशेषता वाले लोगों में साधारण लोगों की तुलना में रंगों को अलग करने की क्षमता पायी जाती है. एक Dandelion (एक प्रकार का फूल) जिसे हम पीले रंग के रूप में वर्णित करते हैं. वहीं Tetrachromacy वाला व्यक्ति इसमें रंगों के सारे शेड्ज़ को देख सकता है. यह स्थिति X chromosome में उत्परिवर्तन (mutations) के कारण होती है. जहां साधारण व्यक्ति ज़्यादा से ज़्यादा 1 लाख से अधिक रंगों को समझ और देख सकता है, वहीं इस खासियत वाले व्यक्ति 99 लाख तक रंगों को देख सकते हैं.

8. कुछ लोगों को कम नींद की ज़रूरत होती है.

कुछ लोगों को पूरे दिन में ज़्यादा नींद की ज़रूरत नहीं होती है, उनके लिए 4 घंटे की नींद दिन ताज़गी और उत्साही रहने के लिए काफ़ी होती है. ऐसे लोगों में कई फ़ेमस लोग भी हैं, जैसे पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री Margaret Thatcher, Salvador Dali, Winston Churchill और Nikola Tesla के नाम शामिल हैं. कम समय की नींद का एक फ़ायदा है यह है कि ऐसे लोगों को अपने काम के लिए साल में औसतन 60 दिन का अतिरिक्त समय मिलता है, यानी पूरे दो महीने का अतिरिक्त समय. सैन फ्रांसिस्को की यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया की एक रिसर्च में ये बात सामने आई कि कम नींद लेने वालों में जीनोम में एक छोटा सा म्यूटेशन (जीन में बदलाव) डीईसी 2 मौजूद होता है. जिन लोगों की बॉडी में DEC 2 जीन पाया जाता है वो लोग, ज़्यादा नींद लेने वालों की तुलना में किसी भी काम को कम समय में पूरा कर सकते हैं.

9. कुछ लोगों में कभी भी कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है.

पूरी दुनिया में केवल कुछ ही लोग ऐसे होते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल के बारे में चिंता किए बिना लगभग कुछ भी खा सकते हैं. ऐसे लोगों में हृदय सम्बन्धी रोगों के होने का ख़तरा लगभग 90% तक कम होता है. इसका मुख्य कारण है कि उनके शरीर में PCSK9 gene की ज्यादा मात्रा नहीं होती है. फ़ार्मास्युटिकल कम्पनीज़ ने इसका लाभ उठाने का फैसला किया और PCSK9 को बॉडी में ब्लॉक करने वाली एक दवा बनाना शुरू कर दिया.

Source: brightside